आई ड्रॉप का सैंपल जांच में फेल, इस्तेमाल पर लगी रोक

बरेली (उत्तर प्रदेश)। आई ड्रॉप प्रेडनिसोलोन का सैंपल जांच में फेल पाया गया है। इसके चलते इस आई ड्रॉप के इस्तेमाल पर रोक लगा दी गई है। उत्तर प्रदेश मेडिकल सप्लाई कॉरपोरेशन ने सभी जिलों से इस दवा को वापस मंगाया है।

यह है मामला

एंटीबॉयोटिक और हार्ट-बीपी की दवाओं के बाद अब प्रेडनिसोलोन सोडियम फास्फेट आई ड्रॉप का सैंपल जांच में मानकों पर खरा नहीं उतरा है। उत्तर प्रदेश मेडिकल सप्लाई कॉरपोरेशन ने प्रदेश के सभी जिलों के ड्रग वेयर हाउस को पत्र भेजकर इस आई ड्रॉप का वितरण तत्काल बंद कराने और बचे वॉयल को वापस भेजने का आदेश दिया है। बता दें कि यह दवा आंखों में सूजन, लाली या खुजली होने पर दी जाती है।

गौरतलब है कि आगरा के जेपी ड्रग्स फार्मा कंपनी में बनी आई ड्रॉप प्रेडनिसोलोन सोडियम फास्फेट 1.0, 5 एमएल वायल बैच नंबर जेडीएलआई-595 जांच में फेल मिली है। यह बैच सितंबर 2023 में जारी हुआ था और इसकी एक्सपायरी अगस्त 2025 में है।

नेत्र विशेषज्ञों का कहना है कि अधोमानक मिले आई ड्रॉप के इस्तेमाल से आंखों पर दुष्प्रभाव की आशंका नहीं है, लेकिन कंपनी के दावे के अनुसार इसका असर कम होगा। इसलिए कॉरपोरेशन ने इस दवा के इस्तेमाल पर रोक लगा दी है।

जिला अस्पताल में आए 100 वॉयल लौटाए

बरेली के जिला अस्पताल में इस आई ड्रॉप के 100 वॉयल आए थे। अभी तक इनमें से एक भी मरीज को नहीं दिए गए थे। सैंपल फेल होने की जानकारी के बाद सभी 100 वॉयल ड्रग वेयरहाउस को लौटा दिए गए हैं।