दवा फैक्ट्री पर मारा छापा, प्रतिबंधित 3.12 लाख कैप्सूल जब्त, मालिक समेत चार अरेस्ट

बरनाला (पंजाब)। दवा फैक्ट्री में बिना लाइसेंस के प्रतिबंधित दवाइयां बनाने पर छापेमारी की गई है। यह फैक्ट्री अवैध बताई गई है। टीम ने मौके से बरामद किए कैप्सूल के सात तरह के सैंपल लेकर जांच के लिए भेज दिए हैं। इसके साथ ही फैक्ट्री मालिक समेत चार लोगों को गिरफ्तार भी किया गया है।

यह है मामला

एसटीएफ पंजाब और बरनाला पुलिस ने संयुक्त ऑपरेशन चलाकर एक अवैध रूप से चल रही दवा फैक्टरी पर रेड की। डीएसपी सतवीर सिंह ने बताया कि पुलिस ने मौके से प्रतिबंधित 3.12 लाख कैप्सूल जब्त किए हैं। इनका इस्तेमाल नशे के रूप में किया जाता है। आरोपी फैक्टरी मालिक समेत कुल चार लोगों को मौके से गिरफ्तार कर लिया गया है।

बिना लाइसेंस के प्रतिबंधित कैप्सूल का निर्माण

सूचना मिली थी कि बरनाला के नाइवाला रोड पर अलजान फार्मास्युटिकल प्राइवेट लिमिटेड नामक फैक्टरी में प्रतिबंधित कैप्सूल का निर्माण किया जाता है। इसके पास कैप्सूल बनाने का लाइसेंस नहीं है। कई और दवाएं भी यहां बिना मंजूरी के तैयार की जा रही हैं।

सूचना के तहत बरनाला पुलिस ने एसटीएफ टीम के साथ मिलकर और ड्रग ऑफिसर बरनाला को साथ लेकर फैक्टरी पर छापा मारा। रेड के दौरान 95 हजार प्रतिबंधित कैप्सूल बरामद हुए। इन कैप्सूलों के संबंध में उनके पास कोई रिकॉर्ड या मंजूरी नहीं मिली। इसके अलावा इसी प्रकार के अन्य 2.17 लाख अन्य कैप्सूल भी बरामद किए गए हैं। इनकी कीमत लगभग 1.16 करोड़ रुपये है।

कच्चा माल व नकली मुहरें बरामद

पुलिस को फैक्टरी से अवैध कैप्सूल, कैप्सूल बनाने का कच्चा माल, नकली मोहरें मिली भी हैं। इस मामले में कुल आठ लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है। इनमें से फैक्ट्री मालिक शिशु पाल समेत दिनेश बंसल, लव कुश यादव, सुखराज सिंह को गिरफ्तार किया गया है। इनके पास से एक महिंद्रा पिकअप गाड़ी भी बरामद की गई है।