नकली आयुर्वेदिक दवा बनाने वाली कंपनी का भंडाफोड़, 2 अरेस्ट

नोएडा। नकली आयुर्वेदिक दवा का निर्माण करने वाली अवैध फैक्ट्री पकड़ी गई है। यह कार्रवाई पुलिस और आयुष विभाग की टीम ने मिलकर सेक्टर-10 में की। आरोपी दो भाइयों अनीस अहमद और मोहम्मद शमी को मौके से गिरफ्तार किया गया है। वहीं, कंपनी से भारी संख्या में नकली दवाइयां और अन्य सामान जब्त किए हैं।

यह है मामला

मुरादाबाद निवासी अजीजुल हसन आयुर्वेदिक दवा कंपनी नमन इंडिया चलाते हैं। कंपनी टाइगर किंग नाम से उत्पाद बनाती है। अजीजुल का आरोप है कि कर्मचारी अनीस अहमद कंपनी छोडक़र चला गया था। अनीस टाइगर किंग समेत अन्य उत्पादों से मिलती-जुलती आयुर्वेदिक दवाइयां बना रहा था। अजीजुल की शिकायत पर पुलिस ने ड्रग निरीक्षक गौतमबुद्धनगर को साथ लेकर सेक्टर-10 स्थित फैक्टरी पर छापेमारी की।

अवैध फैक्ट्री से ये सामान बरामद

मौके पर बड़ी संख्या में टाइगर किंग कंपनी के प्रोडक्ट से मिलते-जुलते रैपर, होलोग्राम और दवाइयां व अन्य सामान बरामद हुआ। टाइगर किंग क्रीम, नाइट गोल्ड क्रीम, मैनपॉवर क्रीम, यूनिट टाइम एंड ऑयल, कंप्रेसर मशीन, इलेक्ट्रिक पैकेजिंग मशीन, सीलिंग मशीन भी भारी मात्रा में यहां से मिली।

पुलिस ने इसके बाद आरोपी अनीस अहमद और उसके भाई मोहम्मद शमी को गिरफ्तार कर लिया। जांच में पता चला है कि आरोपियों के पास दवा बनाने का लाइसेंस भी नहीं था। इस मामले में कोतवाली फेज वन पुलिस ने कॉपीराइट एक्ट के अलावा विभिन्न धाराओं में मामला दर्ज किया है।

मांग कम होने पर हुआ शक

अजीजुल के अनुसार हाल ही में उनकी कंपनी की दवाइयों की मांग कम हुई। आंतरिक जांच में पता चला कि नमन इंडिया कंपनी में बनने वाली दवाओं से मिलती-जुलती दवा दुकानों में पहुंचाई जा रही थीं। नोएडा में उनकी कंपनी के नाम का इस्तेमाल कर नकली दवाइयां बनाईं जा रही हैं। आरोपी नकली दवाइयां कम कीमत पर बाजार में बेचते थे। ग्राहकों को बताया जाता था कि कंपनी ने दवाइयों की कीमतें कम कर दी हैं।