पांच मेडिसिन के सैंपल मिले जांच में फेल, कंपनियों पर लगाया बैन

जयपुर। पांच मेडिसिन के सैंपल जांच में फेल पाए गए हैं। इसके चलते राजस्थान मेडिकल सर्विसेज कॉर्पोरेशन (आरएमएससी) ने संबंधित कंपनियों पर बैन लगा दिया है। वहीं, 33 दवाओं की सप्लाई नहीं करने पर भी कई फार्मा को प्रतिबंधित किया है। जिन कंपनियों की दवाई जांच में फेल मिली है और दवा की सप्लाई लगातार नहीं की, वे फार्मा कंपनियां दवाओं के आगामी तीन वर्ष तक टेंडर में भाग नहीं ले सकेंगी। दवाओं की गुणवत्ता एवं समय पर सप्लाई सुनिश्चित करने की दिशा में यह एक अहम कदम माना जा रहा है।

इन दवाओं के लिए लगा बैन

आरएमएससी की प्रबंध निदेशक नेहा गिरि के अनुसार मेडिकल साई पैरेंट्रलस को हेपरिन सोडियम इंजेक्शनए मै. मेडीपोल फार्मास्यूटिकल को एनालाप्रिल मेलियट टेबलेट, मेडिकल मेक्का इंडस्ट्रीज को यूरिन बैग के सैंपल फेल मिल हैं। इन दवाओं की सप्लाई के लिए निश्चित समय के लिए प्रतिबंधित कर दिया गया है।

इसी प्रकार मेडिकल डी.डी. फार्मास्युटिकल्स को एल्प्राजोलम टेबलेट तथा मै. सन लाइफ साइंसेज को सैफूरोक्सिम एक्सेटिल टेबलेट के सैंपल अमानक पाए जाने पर दवाओं की सप्लाई के लिए प्रतिबंधित किया गया है।

गौरतलब है कि हर सप्लाई की गई दवा के प्रत्येक बैच की गुणवत्ता जांच निगम द्वारा अनुमोदित लैब में करवाई जाती है। जांच में सही पाए जाने पर ही अस्पतालों में इन दवाओं की सप्लाई की जाती है। उपरोक्त सभी दवाएं निगम की प्रारम्भिक जांच में अमानक मिली हैं।

22 फार्मा कंपनियों पर बैन लगाया

जिन दवाओं की सप्लाई में बाधा आई हैं, उनसे संबंधित 22 दवा फर्मों पर बैन लगा दिया गया है। इनमें मेसर्स यूनिसुर लाइफकेयर, सेंचुरियन रेमेडीज, डॉ. सर्जिकल, फ्लेक्सीकेयर मेडिकल इंडिया, एफी पैरेंट्रल्स, सनलाइफ साइंस, ओलकेयर लेबोरेटरीज, इंटास फार्मास्यूटिकल्स, थिओन फार्मास्यूटिकल्स, कॉसमास रिसर्च लैब, बीडीआर फार्मास्यूटिकल्स इंटरनेशनल, टेलीफ्लेक्स मेडिकल, एलर्जेन हेल्थकेयर, एडवी केमिकल, एसपी एक्योर लैब्स, अल्वेस हेल्थकेयर, एलायंस बायोटेक, इनोवा कैपटैब, एएनजी लाइफ साइंसेज, स्टैनेक्स ड्रग्स एंड केमिकल्स, जे डंकन हेल्थकेयर, मेडिपोल फार्मास्यूटिकल्स के नाम शामिल हैं। इन फार्मा की 33 दवाओं की सप्लाई को निश्चित अवधि के लिए प्रतिबंधित किया गया है। वहीं, अन्य 6 दवाओं के लिए 5 कम्पनियों द्वारा अनुबन्ध पत्र व प्रतिभूति राशि जमा नहीं कराए जाने पर प्रतिबंधित किया गया है।

इन कंपनियों को किया डीबार

मैसर्स प्रीसाइज़ केमीफार्मा प्राइवेट लिमिटेड को लाइनज़ोलिड टैबलेट आईपी 600 मिलीग्राम, मेडिकल.ओलकेयर लैबोरेटरीज को एटोरवास्टेटिन टैबलेट आईपी 40 मिलीग्राम, मेडिकल हेल्दी लाइफ फार्मा प्राइवेट लिमिटेड को आयरन और फोलिक एसिड शुगर कोटेड टैबलेट विद फेरस आयरन 45 एमजी फोलिका एसिड आईपी 0.4 एमजी, मेडिकल. एस्टोनिया लैब्स प्राइवेट लिमिटेड को पोविडोन आयोडीन सॉल्यूशन आईपी 10 प्रतिशत तथा मेडिकल मोरपेन लैबोरेट्रीज लिमिटेड को क्लेरिथ्रोमाइसिन 250 एमजी टैब और क्लैरिथ्रोमाइसिन 500 एमजी टेबलेट के लिए अनुबन्ध पत्र व प्रतिभूति राशि प्रस्तुत नहीं करने पर तीन वर्ष की अवधि के लिए डिबार/प्रतिबंधित किया गया है।