प्रतिबंधित दवा एटोलर-पी टैबलेट का स्टॉक जब्त किया, डीसीए ने की कार्रवाई

तेलंगाना। प्रतिबंधित दवा एटोलर-पी टैबलेट का स्टॉक जब्त किए जाने का समाचार है। औषधि नियंत्रण प्रशासन (डीसीए) ने करीमनगर में छापामारी कर प्रतिबंधित दवा एटोलर-पी टैबलेट (एटोडोलैक और पैरासिटामोल टैबलेट) की अवैध सप्लाई को बरामद किया है।

पंजाब में अवैध रूप से निर्मित की गई दवा

डीसीए अधिकारियों को प्रतिबंधित दवा सप्लाई की सूचना मिली थी। सूचना के आधार पर टीम ने विशेष छापेमारी की। इस दौरान प्रतिबंधित दवा एटोलर-पी टैबलेट की खेप को जब्त कर लिया गया। जांच में पता चला कि यह दवा पंजाब स्थित फर्म डॉ. एडविन मेडिलैब्स प्राइवेट लिमिटेड द्वारा अवैध रूप से निर्मित की गई थी। श्योरविन हेल्थकेयर, पंयकूला हरियाणा द्वारा इसे बिक्री किया गया है।

2018 में प्रतिबंधित किया गया था इस दवा का निर्माण

गौरतलब है कि जब्त की गई दवा एटोलर-पी टैबलेट (एटोडोलैक और पैरासिटामोल टैबलेट) निर्माण, बिक्री और वितरण, संभावित स्वास्थ्य जोखिमों और चिकित्सीय औचित्य की कमी के चलते सितंबर, 2018 में सरकार द्वारा प्रतिबंधित कर दी गई थी। इसके बावजूद इस दवा की बिक्री की जा रही थी। डीसीए ने सूचना के आधार पर श्रीहित मेडिकल एजेंसियों, सीतारमपुर, करीमनगर में इस दवा को बरामद किया।

छापामारी टीम में ये रहे शामिल

छापामारी टीम में एम श्रीनिवासुलु, सहायक निदेशक, करीमनगर और पी कार्तिक भारद्वाज, ड्रग्स इंस्पेक्टर, शामिल रहे। इन्होंने करीमनगर में की गई छापेमारी में अवैध स्टॉक जब्त किया गया। डीसीए अधिकारियों ने कहा कि आगे की जांच की जा रही है। सभी आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।