प्राथमिक इलाज की सुविधा अब ट्रेन के सफर में भी मिलेगी

प्रयागराज। प्राथमिक इलाज की सुविधा अब ट्रेन के सफर में भी यात्रियों को मिलने जा रही है। सफर के दौरान यात्री की तबीयत खराब होने परया कोई अन्य हादसा होने पर रेलवे से तुरंत मदद मिलेगी। उत्तर मध्य रेलवे के प्रयागराज मंडल में इसकी शुरुआत की जा रही है।

गौरतलब है कि रेलवे कई बदलाव के जरिए अपने यात्रियों के लिए सुविधाएं बढ़ाने की तरफ लगातार कदम बढ़ा रहा है। सफर में फस्ट एड बॉक्स सबसे जरूरी माना जाता है। ट्रेन में फस्ट एड बॉक्स होता भी है। उसे गार्ड बाबू के पास रखा जाता है।

ट्रेनों में गार्ड रूम में होता है फस्ट एड बॉक्स

अब नई पहल की गई है। ट्रेनों के एसी कोच मैकेनिकों को भी फस्ट एड बॉक्स दिया जाएगा। इससे तत्काल यात्रियों की मदद की जा सकेगी। उत्तर मध्य रेलवे के प्रयागराज मंडल में इसकी शुरुआत की जा रही है। असल में ट्रेनों में फस्ट एड बॉक्स गार्ड रूम में होता है। गार्ड रूम ट्रेन के बिल्कुल आखिरी में होता है। चलती ट्रेन में यात्रियों की जरूरत पूरी होने में समय लगता है। यह मामले लगातार रेलवे अफसरों के संज्ञान में आ रहा था। नियमों में बदलाव इतनी आसानी से नहीं हो सकता।

एसी कोच मैकेनिक के पास होगा फस्ट एड बॉक्स

प्रयागराज मंडल के डीआरएम हिमांशु बडोनी ने यात्री ट्रेनों में एक और फस्ट एड बॉक्स रखने की शुरुआत को हरी झंडी दे दी। यह बॉक्स एसी कोच मैकेनिक के पास होगा। बॉक्स में जरूरी दवाएं, मरहम-पट्टी के साथ अन्य प्राथमिक इलाज के प्रबंध होंगे। एसी कोच मैकेनिक की टीमें हर ट्रेन में होती हैं और कोचों में घूमती रहती हैं। ऐसे में फस्ट एड बॉक्स यात्रियों को तुरंत मिल सकेगा।

एडीआरएम (जी) संजय सिंह ने बताया कि प्रयागराज मंडल की इस पहल की प्रशंसा हो रही है। यात्रियों को चोट लगने या बीमार होने पर फस्ट एड बॉक्स तत्काल मिले, इसकी तैयारी की गई है।