महिला ड्रग इंस्पेक्टर ने मांगी 1 लाख रुपये रिश्वत, सहायक गिरफ्तार

मुंबई। महिला ड्रग इंस्पेक्टर को शिकायतकर्ता से एक लाख रुपये रिश्वत मांगने पर उनके सहायक मेडिकल स्टोर संचालक को रंगे हाथों गिरफ्तार किया गया है। यह कार्रवाई पालघर जिले में एंटी करप्शन ब्यूरो ने की। पालघर में ड्रग इंस्पेक्टर आरती शिरीष कांबली ने शिकायतकर्ता से एक लाख रुपए की रिश्वत मांगी। रिश्वत लेने पर उनके सहायक और मोरेगांव नालासोपारा में स्थित दुर्गा मेडिकल स्टोर के मालिक कृष्ण कुमार आशाराम तिवारी को एक लाख रुपए की रिश्वत लेते हुए रंगे हाथों गिरफ्तार किया है।

यह है मामला

एंटी करप्शन ब्यूरो के अनुसार आरोपी ड्रग इंस्पेक्टर आरती शिरीष कांबली ने शिकायतकर्ता के मेडिकल स्टोर पर गत 14 जून 2024 को छापेमारी की थी। इसके बाद औषधि तथा सौंदर्य प्रसाधन नियम 1940 के तहत नियम का उल्लंघन करने पर मेडिकल स्टोर को बंद करने का नोटिस सौंपा था। इसके बाद शिकायतकर्ता का मेडिकल स्टोर बंद करा दिया गया।

मेडिकल स्टोर दोबारा शुरू करने के नाम पर मांगी रिश्वत

शिकायतकर्ता का बंद मेडिकल स्टोर पुन: शुरू कराने के लिए ड्रग इंस्पेक्टर आरती शिरीष कांबली ने एक लाख रुपए की मांग की थी। पीडि़त ने पालघर के एंटी करप्शन ब्यूरो को इस संबंध में शिकायत दी। ब्यूरो ने इस मामले में जांच पड़ताल की।
ड्रग इंस्पेक्टर आरती शिरीष कांबली ने शिकायतकर्ता से दोबारा उनका बंद मेडिकल स्टोर शुरू कराने के लिए एक लाख रुपए मांगे और यह राशि नालासोपारा में स्थित दुर्गा मेडिकल स्टोर के मालिक को सौंपने के लिए दबाव डाला।

ड्रग इंस्पेक्टर पर भी कार्यवाही जारी

शिकायतकर्ता जब ड्रग इंस्पेक्टर के निर्देश पर मेडिकल स्टोर के मालिक कृष्ण कुमार तिवारी को एक लाख रुपए दे रहा था तो पालघर एंटी करप्शन ब्यूरो ने तिवारी को रंगे हाथों गिरफ्तार कर लिया। अब ड्रग इंस्पेक्टर पर भी कार्यवाही की जा रही है।