मेडिकल स्टोर संचालकों ने ये दवाई नहीं बेचने का लिया फैसला

रामपुर। मेडिकल स्टोर संचालकों ने बैठक कर दवा बिक्री के संबंध में अहम फैसला लिया है। बैठक में दवा विक्रेताओं ने निर्णय लिया कि अब वे डॉक्टर के पर्चे बिना कोई एंटीबायोटिक दवा नहीं बेचेंगे।

यह है मामला

फार्मा ट्रेडर्स एसोसिएशन के तत्वावधान में एक बैठक का आयोजन किया गया। इसमें दवा विक्रेताओं ने एंटीबायोटिक दवाओं के अंधाधुंध इस्तेमाल से मरीजों में होने वाले एंटीमाइक्रोबायल रेजिस्टेंस पर चर्चा की। उन्होंने निर्णय लिया कि दवा विक्रेता इसके बारे में आमजन को जागरूक भी करेंगे।

बैठक में बाहर से आए पदाधिकारियों की मौजूदगी में तय हुआ कि डॉक्टर के पर्चे बिना कोई मेडिकल स्टोर संचालक एंटीबायोटिक दवा नहीं बेचेगा। बताया गया कि इनके अधिक इस्तेमाल से शरीर में दवा का असर खत्म होने के मामले सामने आ रहे हैं।

बाहर से आए पदाधिकारियों का किया स्वागत

इसमें आर्गेनाइजेशन आफ केमिस्ट एंड ड्रगिस्ट उत्तर प्रदेश के संगठन मंत्री शैलेंद्र सिंह टिल्लू, आल इंडिया आर्गेनाइजेशन आफ केमिस्ट एंड ड्रगिस्ट के सदस्य एवं दवा विक्रेता समिति गाजियाबाद के जिला महामंत्री प्रदीप राणा और नोएडा से आए गौतमबुद्ध नगर केमिस्ट एसोसिएशन के जिलाध्यक्ष रविंद्र चौधरी का स्थानीय दवा विक्रेताओं ने स्वागत किया।

ये रहे मौजूद

मेडिकल स्टोर

बैठक के दौरान फार्मा ट्रेडर्स एसोसिएशन के जिला अध्यक्ष दीपक शर्मा, महामंत्री मोहम्मद आजम खां, कोषाध्यक्ष सर्वेश सक्सेना, चेयरमैन राजकुमार सेठी मौजूद रहे। इनके अलावा भी, वरिष्ठ उपाध्यक्ष जाकिर खां, राजू मदान, मजीद खां, शाहिद खां, नवीन गुप्ता, प्रतीक शर्मा, रिजवान शाहवेज आदि की उपस्थिति दर्ज की गई।