शुगर की नकली दवा से रहें सावधान : WHO

नई दिल्ली। शुगर की नकली दवा बाजार में धड़ल्ले से बिक रही है। इनसे आप सभी को सावधान रहने की जरूरत है। वल्र्ड हेल्थ ऑर्गनाइजेशन (WHO) ने भी इस दवा को लेकर अलर्ट जारी किया है। डब्ल्यूएचओ ने लोगों को नकली ओजेम्पिक दवाओं से बचने की सलाह दी है.

गौरतलब है कि मोटापा कंट्रोल करने के लिए लोग हर दिन दवा खाते हैं। बेहतर लाइफस्टाइल और हेल्दी डाइट के साथ डायबिटीज की दवा बेहद असरदार साबित होती है। यही वजह है कि शुगर के मरीज नियमित दवा का इस्तेमाल करते हैं। विश्व में शुगर लेवल कंट्रोल करने और वेट लॉस के लिए ओजेम्पिक (सेमाग्लूटाइड) ड्रग्स का इस्तेमाल बड़े पैमाने पर किया जाता है।

डब्ल्यूएचओ ने अलर्ट जारी किया

डब्ल्यूएचओ का कहना है कि डायबिटीज और वेट लॉस के लिए सेमाग्लूटाइड ड्रग वाली दवा इस्तेमाल की जाती है। हालांकि कई देशों में नकली सेमाग्लूटाइड्स की दवाएं मिली हैं। इससे लोगों की सेहत के लिए खतरा बढ़ गया है। पिछले साल अक्टूबर में ब्राजील, यूनाइटेड किंगडम और आयरलैंड में नकली दवाएं मिली थीं। इसके बाद दिसंबर 2023 में यूएस में नकली दवाओं का पता चला था। नकली दवा की रिपोर्टों की पुष्टि के बाद डब्ल्यूएचओ ने अलर्ट जारी किया है।

हेल्थ प्रोफेशनल्स, अथॉरिटीज और लोगों को इन नकली दवाओं के बारे में सचेत रहने को कहा है। अगर इन दवाओं में जरूरी ड्रग्स नहीं है, तो ये दवाएं ब्लड शुगर को अनकंट्रोल कर सकती हैं। इससे शुगर के मरीजों को कॉम्प्लिकेशंस का सामना करना पड़ सकता है। वहीं, वेट लॉस के लिए नकली दवाएं लेने से भी गंभीर खतरे पैदा हो सकते हैं। इससे जान भी जा सकती है।

क्वालिफाइड डॉक्टर की सलाह पर दवा लें

आमजन को सलाह दी गई है कि नकली दवाओं और उनके खतरनाक असर से खुद को बचाने के लिए क्वालिफाइड डॉक्टर से सलाह लेने के बाद ही दवाएं खरीदनी चाहिए। दवा हमेशा सही मेडिकल स्टोर से खरीदनी चाहिए। ऑनलाइन दवाएं खरीदने से बचें। दवा खरीदते समय उसकी पैकेजिंग और एक्सपायरी डेट की जांच जरूर करें। अगर दवा नकली लगे, तो तुरंत डॉक्टर से सलाह लें।