हाथ में पहनने वाली इस डिवाइस से बिना दवाई के माइग्रेन से मिलेगी राहत

हाथ में पहनने वाली इस डिवाइस से बिना दवाई के माइग्रेन से मिलेगी राहत

तेज सिर दर्द की बीमारी माइग्रेन किसी भी व्यक्ति को बेहाल कर देती है। बिना दवा लिए इस दर्द से निजात नहीं मिलता है। लेकिन बार-बार ये पेन किलर्स खाना सेहत पर बुरा असर डालती है। ये शरीर में स्लो पॉइजन के जैसे होती है जो किड़नी पर धीरे-धीरे खराब असर डालती है। माइग्रेन मरीजों की परेशानी अब खत्म होने वाली है।

हैदराबाद स्थित डॉ. रेड्डीज लैबोरेटरीज ने यूएसएफडीए की अनुमोदित पहनने योग्य चिकित्सा उपकरण नेरिवियो शुरू कर रही है। इस डिवाइस को पहनने से माइग्रेन के मरीजों को राहत मिलेगी। हाथ के ऊपरी बांह पर इस डिवाइस को 12 वर्ष से ऊपर के वो लोग पहन सकते हैं जो माइग्रेन से पीड़ित हैं।

डॉ. रेड्डीज लैबोरेटरीज कंपनी का इस संबंध में कहना है कि इस उपकरण को पहनने से माइग्रेन को रोकने में सहायता मिलती है। नेरिवियो, जिसकी कीमत 14,000-16,000 रुपये है, तंत्रिका अंत को उत्तेजित करके वातानुकूलित दर्द मॉड्यूलेशन को सक्रिय करने के लिए दूरस्थ विद्युत न्यूरोमोडायलेशन तंत्र का उपयोग करता है। कंपनी ने कहा कि यह ब्रेनस्टेम में एक प्राकृतिक दर्द-राहत प्रक्रिया शुरू करता है, जिससे दर्द अवरोध का वैश्विक प्रभाव पड़ता है जो सिर में माइग्रेन दर्द के मूल स्रोत को प्रभावित करता है। यह उपकरण प्रत्येक 45 मिनट के अंतर्निर्मित 18 सत्रों के साथ आता है, और इसका उपयोग तीव्र माइग्रेन के इलाज के लिए सिरदर्द की शुरुआत के 60 मिनट के भीतर या माइग्रेन की रोकथाम के लिए हर दूसरे दिन किया जाना चाहिए।

ये भी पढ़ें- धुबरी में कुख्यात ड्रग तस्कर पकड़ा गया, प्रतिबंधित कफ सिरप जब्त

कंपनी ने कहा कि इसमें एक इंटरैक्टिव जीआईईआर (निर्देशित, इमेजरी, शिक्षा और विश्राम) प्रोटोकॉल भी है जो डिवाइस के साथ उपयोग करने पर प्रतिक्रिया दर को काफी बढ़ा सकता है। डॉ. रेड्डीज में ब्रांडेड बाजारों (भारत और उभरते बाजारों) के सी. ई. ओ. एम. वी. रमन्ना ने कहा कि यह उपकरण डिजिटल चिकित्सा विज्ञान में फर्म के प्रवेश को चिह्नित करता है।