हॉस्पिटल में रिश्वत लेते रंगे हाथों दबोचा गया सीनियर नर्सिंग ऑफिसर

कोटा (राजस्थान)। हॉस्पिटल में सीनियर नर्सिंग ऑफिसर को रिश्वत लेते हुए रंगे हाथों दबोचे जाने का मामला प्रकाश में आया है। यह कार्रवाई एसीबी ने एमबीएस अस्पताल में की। बताया गया है कि अस्पताल की मशीनों के मेंटेनेंस का ठेका ली हुई कंपनी ने इस संबंध में शिकायत की थी।

यह है मामला

कोटा एसीबी ने मंगलवार को एमबीएस हॉस्पिटल में सीनियर नर्सिंग अधिकारी को 10 हजार रुपए की घूस लेते हुए रंगे हाथों गिरफ्तार किया है। जानकारी अनुसार नर्सिंग अधिकारी अस्पताल में मशीनों की मेंटेनेंस का ठेका लेने वाली कंपनी के बकाया बिल पास करने के एवज में रिश्वत मांग रहा था। ं ठेकेदार ने एसीबी को इस बारे में शिकायत की। एसीबी ने आरोपी को रंगे हाथों ट्रैप कर लिया है।

बिल पास करने के बदले मांगे 15 हजार रुपए

कोटा एसीबी डीआईजी कल्याणमल मीणा के अनुसार एमबीएस अस्पताल में मशीनों की मेंटेनेंस की ठेका फर्म के ठेकेदार ने शिकायत दी थी। शिकायत में बताया था कि एमबीएस अस्पताल के सीनियर नर्सिंग ऑफिसर मंसूल अली के पास उसकी कंपनी के बिल पेंडिंग हैं। इनको पास करने के बदले में मंसूल अली 15 हजार रुपये कर रहा है। सत्यापन के दौरान मंसूल अली कपूरचंद ठेका कंपनी से 5000 की राशि वसूल चुका था। शेष 10 हजार घूस रकम मंगलवार नर्सिंग अधीक्षक कार्यालय में बैठकर वसूल रहा था। तभी वहां एसीबी की टीम ने नर्सिंग ऑफिसर मंसूर अली को ट्रैप कर लिया।

अस्पताल का बाबू और अकाउंटेंट भी निशाने पर

एडिशनल एसपी विजय स्वर्णकार ने बताया कि मौके से कई फाइलें भी जब्त की हैं। इनकी भी जांच की जाएगी। वहीं, आरोपी मंसूर अली ने रिश्वत का कुछ हिस्सा विभाग के बाबू और अकाउंटेंट के लिए भी लेना बताया है। अब अस्पताल का बाबू और अकाउंटेंट भी एसीबी के निशाने पर हैं।