स्वास्थ्य क्षेत्र में देश आगे, उत्तर प्रदेश पीछे: नड्डा

वाराणसी: केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री जेपी नड्डा ने कहा कि देश स्वास्थ्य क्षेत्र में तेजी से आगे बढ़ रहा है, लेकिन दुख के साथ कहना पड़ रहा है कि उत्तर प्रदेश में स्थिति विपरीत है। केंद्र से अपार सहयोग के बावजूद यह प्रदेश अब भी स्वास्थ्य के क्षेत्र में बहुत पीछेे है। पत्रकारों से बातचीत में नड्डा ने कहा कि मोदी सरकार ने प्रदेश की जनता को बेहतर स्वास्थ्य सुविधा देने के लिए प्रदेश सरकार को 36000 करोड़ रूपये से अधिक धनराशि दी, लेकिन उप्र सरकार इसको पूरा खर्च करने में विफल रही। जनता इसका जवाब चाहती है और मुख्यमंत्री अखिलेश यादव इसके लिए दोषी हैं।
उप्र सरकार पर प्रदेश की जनता के स्वास्थ्य के साथ खिलवाड़ करने का आरोप नड्डा ने लगाया। उन्होंने बताया कि प्रधानमंत्री ने प्रदेश के लोगों को बेहतर इलाज देने के लिए शाहजहांपुर, बहराइच, बस्ती, फैजाबाद तथा फिरोजाबाद के जिला अस्पतालों को मेडिकल कालेज बनाने के लिए प्रत्येक को 189 करोड़़ रुपये प्रदान किए हैं। इन कॉलेजों का शिलान्यास भी कर दिया गया है। इसके अलावा प्रदेश के अलीगढ़, वाराणसी, झांसी, मुरादाबाद, अमेठी, उन्नाव में कैंसर केयर सेंटर के लिए भी धनराशि स्वीकृत की जा चुकी है। केंद्रीय मंत्री ने कहा कि मोदी सरकार द्वारा चलाई जा रही योजनाओं को धरातल पर उतारने तथा बेहतर स्वास्थ्य सुविधाओं को जनता तक पहुंचाने के लिए प्रदेश में भाजपा को सत्ता में लाना पड़ेगा। केंद्रीय स्वास्थ्य राजयमंत्री एवं मिर्जापुर की सांसद अनुप्रिया पटेल ने भी स्वास्थ्य व्यवस्था पर अखिलेश सरकार कठघरे में खड़ा किया।