प्रतिबंधित दवा और उपकरण मिलने पर क्लीनिक सील 

गोपेश्वर (उत्तरांचल)। स्वास्थ्य विभाग ने पुलिस बल के साथ मिलकर चमोली कस्बे में चल रहे एक क्लीनिक पर छापामारी की और प्रतिबंधित दवा बेचने के आरोप में उसे सील कर दिया। इसके अलावा, टीम को यहां प्रतिबंधित उपकरण भी मिले हैं। जानकारी अनुसार डिप्टी सीएमओ डॉ. दिनेश चौहान के नेतृत्व में प्रशासन व पुलिस की टीम ने चमोली कस्बे में संचालित सेमवाल क्लीनिक का औचक निरीक्षण किया। डिप्टी सीएमओ ने बताया कि क्लीनिक संचालक के पास चिकित्सा संबंधी कोई डिग्री नहीं मिली। जबकि क्लीनिक में आयुर्वेदिक व एलोपैथिक दवा के माध्यम से मरीजों का इलाज किया जा रहा है। क्लीनिक में कई प्रतिबंधित दवाइयां भी मिली हैं। इसके अलावा, फीटर डाप्लर जैसे प्रतिबंधित उपकरण भी यहां पाए गए। उन्होंने बताया कि छापामार कार्रवाई के तहत दुकान को सील कर आगे की कार्रवाई की जा रही है। इस अभियान में चमोली की उपजिलाधिकारी बुसरा अंसारी, कोतवाली प्रभारी शिवदत्त जमलोकी, प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र चमोली की प्रभारी डॉ. रश्मि पुरोहित मौजूद रहे। उधर, क्लीनिक संचालक प्रदीप चंद्र सेमवाल का कहना है कि स्वास्थ्य विभाग बार-बार जांच करता है, लेकिन जांच रिपोर्ट नहीं दी जाती है। उन्होंने आरोप लगाया कि उनके क्लीनिक को गलत सील किया गया है।