अब ई-औषधि पोर्टल से ले सकेंगे लाइसेंस

मुंबई। आयुर्वेद, सिद्ध, यूनानी और होम्योपैथी दवाओं की ऑनलाइन लाइसेंस प्रणाली के लिए ई-औषधि नामक पोर्टल लांच कर दिया गया है। इस मौके परआयुष राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) श्रीपद येसो नाइक ने कहा कि ई-औषधि पोर्टल का उद्देश्य पारदर्शिता बढ़ाना, सूचना प्रबंधन सुविधा तथा आंकड़ों के इस्तेमाल में सुधार लाना और जवाबदेही को बढ़ाना है। उन्होंने कहा कि आवेदनों की प्रक्रिया को समयबद्ध करने के लिए प्रत्येक चरण में पोर्टल के जरिये एसएमएस और ई-मेल के जरिये जानकारी दी जाएगी। उन्होंने कहा कि आयुष मंत्रालय की इस पहल से ई-गवर्नेंस, कारोबारी सुगमता और ‘मेक इन इंडिया’ की दिशा में केंद्र सरकार की प्रतिबद्धता का पता चलता है। इस अवसर पर आयुष मंत्रालय में सचिव वैद्य राजेश कोटेचा ने कहा कि आयुष मंत्रालय आयुष के चिकित्सकों, दवा निर्माताओं और उपभोक्ताओं की समस्याओं के समाधान की दिशा में प्रयासरत है। कोटेचा ने बताया कि यह पोर्टल लाइसेंस प्रदाता अधिकारी, निर्माताओं और उपभोक्ताओं के लिए मददगार होने के साथ-साथ लाइसेंस प्राप्त निर्माताओं तथा उनके उत्पादों, रद्द की गई और नकली औषधियों की जानकारी देने के अलावा शिकायतों के लिए संबंधित अधिकारी का संपर्क सूत्र भी तत्काल उपलब्ध कराएगा।