सनफार्मा के शेयरधारकों को नुकसान नहीं 

नई दिल्ली। दवा कंपनी सन फार्मास्युटिकल ने कहा है कि आदित्य मेडिसेल्स के साथ सौदे में उसके शेयरधारकों को नुकसान नहीं हुआ है और कंपनी ने बाजार नियामक सेबी के सवालों का जवाब दे दिया है। आदित्य मेडिसेल औषधि कंपनी की घरेलू वितरक रही है लेकिन कंपनी ने कहा है कि उसकी जगह सन फार्म की अनुषंगी कंपनी लेगी। ऐसी खबर है कि आदित्य मेडिसेल ने रीयल एस्टेट कंपनी सुरक्षा रीयल्टी के साथ 5,800 करोड़ रुपये से अधिक का लेन-देन किया। इस कंपनी के प्रवर्तक सुधीर वालिया है जो सन फार्मा के प्रवर्तक दिलीप सांघवी के संबंधी है। वालिया औषधि कंपनी में भी कार्यकारी निदेशक हैं। सन फार्मा के प्रबंध निदेशक दिलीप सांघवी ने कहा कि मैं निवेशकों को आश्वस्त करना चाहूंगा कि आदित्य मेडिसेल के साथ सौदे से सन फार्मा के शेयरधारकों को नुकसान नहीं हुआ है। सांघवी कुछ निवेशकों द्वारा जताई गई चिंता का जवाब दे रहे थे। उनसे यह पूछा गया था कि क्या सन फार्मा के अल्पांश शेयरधारकों की कीमत पर आदित्य मेडिसेल को लाभ पहुंचाया गया है। उन्होंने यह भी कहा कि सन फार्मा ने बाजार नियामक सेबी के 2004 के विदेशी मुद्रा परिवर्तनीय बांड (एफसीसीबी) जारी किए जाने तथा आदित्य मेडिसेल के साथ लेन-देन के बारे में पूछे गए दो सवालों का जवाब दे दिया है।