स्वास्थ्य मंत्री के घर में भू्रण लिंग जांच का पर्दाफाश

अंबाला: राज्य के स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज के अपने गृह जिले में भू्रण लिंग जांच का खुलासा होने से सिस्टम पर सवाल उठने शुरू हो गए हैं। यहां एक निजी अस्पताल में भू्रण जांच की सच्चाई उस वक्त उजागर हुई जब पहले से ही 3 बेटियों के पिता आशस्वस्त थे कि इस बार बेटा ही होगा, लेकिन पिता और मां को सदमा लगा जब 2 जुड़वां बेटियां पैदा हुई।
गुस्से में पिता ने खुलासा किया कि निजी अस्पताल में अल्ट्रासाउंड करवाने पर 20,000/ पहले और 20,000/- खुशखबरी के बाद यानी कुल 40 हजार में सौदा हुआ। गर्भ में एक बेटा एक बेटी होने की सूचना पर 2000/- मिठाई के नाम से लिए गए। वहीं 2 बेटियों को जन्म देने वाली मां को जब 2 कन्याओं की सूचना मिली तो वह लगभग मरणासन हो गई। मां की जान बचाने के लिए खून की बोतलें चढ़ाई गई डॉक्टरों की कड़ी मेहनत के बाद महिला बच गई।
प्रभावित परिवार के सदस्य अल्ट्रासाउंड करने वाले निजी अस्पताल पहुंचे पहले तो डॉक्टर अल्ट्रासाउंड करने बात से ही मुकर गया। मीडिया को जानकारी देने की बात कही आनन-फानन में रजिस्टर में एंट्री सामने आ गई। अस्पताल कर्मियों ने माना कि नवंबर में नोटबंदी के दौरान अल्ट्रासाउंड हुआ था। पैसे जिस महिला ने लिए वो बाहर गई है। इस बारे सीएमओ विनोद गुप्ता को फोन किया लेकिन इतने गंभीर मामले पर भी वह बैठक की व्यस्तता बताकर लाइन पर नहीं आए।