दवा-इंजेक्शन के लिए ‘सिलिका कवच’

वैज्ञानिकों ने फ्रिज और कोल्डचेन का तलाशा विकल्प
नई दिल्ली। अब इंजेक्शन और दवाओं को सलामत रखने के लिए फ्रिज और कोल्ड चेन की महंगी व्यवस्था से निजात मिल सकेगी। वैज्ञानिकों ने इसका विकल्प सिलिका कवच के रूप में खोज निकाला है। यह काफी सस्ता, आसान और सुरक्षित तरीका है। ब्रिटेन स्थित यूनिवर्सिटी ऑफ बाथ के शोधकर्ताओं का कहना है कि इंजेक्शन और कई दवाओं में ऐसे प्रोटीन होते हैं, जो ज्यादा तापमान के संपर्क में आते ही टूट जाते हैं। इस कारण इन्हें फ्रिज में रखा जाता है।
टीके-दवाओं को दूरस्थ स्थानों पर पहुंचाने के लिए कोल्ड चेन की मदद ली जाती है।  कोल्ड चेन में गड़बड़ के कारण हर साल लाखों टीके खराब हो जाते हैं। शोधकर्ताओं का दावा है कि सिलिका से बने कवच में टीके-दवाओं को सौ डिग्री सेल्सियस तक के तापमान पर भी सुरक्षित रखा जा सकता है। मिट्टी से मिलने वाली सिलिका टीके और दवा के घटकों से कोई क्रिया नहीं करती। ज्ञातव्य है कि भारत समेत सभी विकासशील देशों में बच्चों और गर्भवर्ती महिलाओं के स्वास्थ्य की खातिर टीकाकरण अभियान चलाए जाते हैं। ऐसे में टीकों को खराब होने से बचाने के लिए कोल्ड चैन के विकल्प के तौर पर सिलिका कवच एक बेहतर तकनीक साबित होगी।