दवा व्यापारियों ने दी आंदोलन की धमकी

शेखपुरा। जिला दवा विक्रेता संघ ने फार्मासिस्टों की समस्या को लेकर सड़क पर उतरने की धमकी दी है। इस संबंध में जिला सचिव राजनीति शर्मा की अध्यक्षता में हुई बैठक में बिहार कैमिस्ट एण्ड ड्रगिस्ट एसोसिएशन ने फार्मासिस्ट समस्या पर आंदोलन करने पर चर्चा की। बैठक में सर्वसम्मति से निर्णय लिया गया कि 20 जून से 4 जुलाई तक सभी दवा विक्रेता काले बिल्ले लगाकर विरोध जताएंगे। इसके बाद भी अगर सरकार ने कोई सार्थक पहल नहीं की तो छह जुलाई को एक दिन सभी थोक एवं खुदरा दवा विक्रेता अपनी-अपनी दुकानें बन्द रखेंगे। राजनीति शर्मा ने बताया कि अनिश्चितकालीन बंद को लेकर 15 से 31 जुलाई तक दवा विक्रेता कंपनी से दवा कि खरीदारी नहीं करेंगे और 1अगस्त से सभी दवा विक्रेता अनिश्चितकालीन हड़ताल पर चले जाएंगे। बता दें कि ड्रग एंड कास्मेटिक एक्ट 1956 के अनुसार दवा विक्रेता को अपनी दुकान पर फार्मासिस्ट को रखना अनिवार्य है। ऐसा नहीं करने पर दवा दुकान का लाइसेंस रद्द किया जा सकता है। उस समय दवा को मिक्स कर मरीजों को दिया जाता था, जिसके कारण फार्मासिस्ट आवश्यक था। वर्तमान में दवा ब्रांडेड आने लगी है। इसमें प्रशिक्षित व्यक्ति के अलावा जानकार भी दवा की बिक्री कर सकते हैं। इसी को लेकर वर्षों से आंदोलन चलाया जा रहा है। बैठक में ज्योतिष कुमार, अभय कुमार, राजेंद्र प्रसाद, विपीन कुमार, प्रमोद कुमार, भगवान दास गुप्ता, मंटू प्रसाद, उमेश राउत सहित दर्जनों लोगों ने भाग लिया।
Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here