देशव्यापी हड़ताल का विरोध करने वालों के लिए

ऑल इंडिया आर्गेनाइजेशन आॅफ कैमिस्ट एंड ड्रगिस्ट या प्रदेश संगठन किसके लिए हड़ताल कर रही हैं?
क्या सिर्फ संगठन के पदाधिकारी केवल अपने व्यापार को बचाने के लिए?
क्यों जिले के पदाधिकारी अपना समय हड़ताल को सफल बनाने के लिए दे रहें हैं? क्या खुद का व्यापार बचाने के लिए?
हम यह क्यों भूल रहें हैं कि सरकार हमारे व्यापार को सिर्फ और सिर्फ नोडल एजेन्सी या फिर चंद उद्योगपतियों को सोंपना चाहती हैं। अगर ऐसा हो गया तब सोचो क्या होगा ?
सोचो भैया सोचो,
यह सोचने का विषय है।
अगर आज नहीं सोचा तो फिर सोचते रह जायेंगे और हमारी अकड़ एवं संगठन के पदाधिकारियों के प्रति नाराजगी धरी की धरी रह जाएगी।
व्यर्थ की बातें मत सोचो। यह सब जानते हैं कि दो-चार दुकाने खुलने से हड़ताल असफल नहीं होगी।
हां किंतु ऐसा करने वाले क्या खुद को माफ कर पाएंगे या हड़ताल के बाद अपने साथियों के साथ बाद में बैठ पाएंगे और क्या अपना भविष्य सुरक्षित रख पाएंगे?
सोचो भैया सोचो,
अपना भला तो सबका भला और अपने खुद के भले के लिए संगठन का सहयोग करें और हड़ताल को सफल बनाएं। आज हमारा है और कल भी हमारा हो, यही प्रदेश एवं ऑल इंडिया तथा जिला संगठन का मजबूत इरादा है।
ऑन लाइन पोर्टल को कहें ना,
ऑन लाइन को कहें ना,
हमारा कैमिस्ट अपना कैमिस्ट सेवा में सदैव रहे तत्पर, यही है हमारा नारा।
कैमिस्ट एकता जिंदाबाद
ऑल इंडिया संगठन, राज्य संगठन, जिला संगठन