बिहार से दवा उद्योग का पलायन शुरू

पटना। स्वास्थ्य विभाग द्वारा ड्रग लाइसेंस देने में आनाकानी करने से दवा कंपनियां राज्य से पलायन करने लगी हैं। पिछले दो माह से स्वास्थ्य विभाग ने दवा  कंपनियों एवं दवा दुकानों के लिए लाइसेंस पर रोक लगा दी है। जिस कारण दवा कंपनियां बिहार के पड़ोसी राज्य बंगाल, झारखंड  एवं उत्तर प्रदेश का रुख कर रही हैं। बिहार राज्य केमिस्ट एंड ड्रगिस्ट एसोसिएशन के बैनर तले आयोजित बैठक में एसोसिएशन अध्यक्ष डॉ. एएन सिंह ने यह खुलासा किया।
डॉ. सिंह ने कहा कि सरकार जब तक ऑनलाइन लाइसेंस जारी करने की उचित व्यवस्था नहीं करती तब तक पहले की तरह ऑफलाइन लाइसेंस दिया जाए ताकि दवा कारोबार सुगमता से चलता रहे। पिछले दो माह में दस से ज्यादा दवा कंपनियां पलायन कर चुकी हैं। सरकार इस मुद्दे पर शीघ्र गंभीर नहीं हुई तो राज्य के दवा उद्योग की कमर टूट जाएगी। उन्होंने कहा कि एक तरफ तो केंद्र सरकार जोर-शोर से होम्योपैथी चिकित्सा पद्धति को बढ़ावा देने का अभियान चला रही है, वहीं राज्य सरकार ने लाइसेंस जारी करने पर ही रोक लगा दी है। इससे दवा कंपनियों कोसिवाय पलायन के कोई रास्ता नजर नहीं आ रहा है।