मेडिकल एजेंसी पर रेड, हजारों की प्रतिबंधित दवाएं जब्त

लुधियाना, राकेश भटेजा। ड्रग विभाग की टीम ने स्थानीय पिंडी गली रेड कर हजारों रुपए कीमत की प्रतिबंधित दवाइयां जब्त की हैं। जोनल लाइसेंसिंग अथॉरिटी कुलविंदर सिंह, ड्रग इंस्पेक्टर रुपिंदर कौर, रवि गुप्ता, गुरप्रीत सिंह सेठी व सहायक राजकुमार की टीम ने पहले होलसेलर फर्म पापुलर फार्मा एजेंसी में दबिश दी। यहां भारी मात्रा में ऐसी दवाएं बरामद हुई, जिनका नशे के तौर पर दुरुपयोग होता है। इनमें ट्रामाडोल की 3362 गोलियां व कैप्सूल, लोमोटिल की सात सौ गोलियां, कैरीसोमा की 250 गोलियां, एलप्रेक्स की 1500 गोलियां व पेंटाजोसीन के 30 इंजेक्शन बरामद हुए। उनके मुताबिक जब्त दवाओं की कीमत 48 हजार 725 रुपये बनती हैं। टीम ने सभी दवाओं को जब्त कर लिया। एजेंसी मालिक को शोकॉज नोटिस जारी कर जवाब मांगा गया है। उधर, ड्रग विभाग की कार्रवाई के बाद लुधियाना डिस्ट्रिक केमिस्ट एसोसिएशन के प्रधान व पंजाब केमिस्ट एसोसिएशन के महासचिव जीएस चावला ने पिंडी गली के होलसेल दवा विक्रेताओं के साथ मीटिंग की। इस मीटिंग में मनजीत सिंह सहगल, आतम प्रकाश, निशांत अरोड़ा, राजेश अग्रवाल, मनजीत सिंह खुराना, अरविंदर सिंह, जीएस ग्रोवर, तेजिंदर सिंह, आरके मिगलानी, मनीष ककड़ सहित अन्य मौजूद रहे। मीटिंग को संबोधित करते हुए जीएस चावला ने कहा कि कुछ दवा विक्रेताओं के गलत कार्यों से बदनामी हो रही है। एक दवा विक्रेता नशे में प्रयोग होने वाली दवाएं गैर कानूनी ढंग से बेचता है, लेकिन संदेह के घेरे में सभी दवा विक्रेता आ जाते हैं। ऐसे में एसोसिएशन ने निर्णय लिया है कि पिंडी गली में अगर किसी भी होलसेलर दवा विक्रेता ने नियमों के विपरीत जाकर दवाओं का कारोबार किया तो उसका बायकट किया जाएगा। एसोसिएशन उस दवा विक्रेता के साथ बिलकुल खड़ी नहीं होगी। चावला ने कहा कि भविष्य में पुलिस व ड्रग विभाग की मदद से नशीली दवाइयां बेचने वालों को दबोचा जाएगा।

Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here