70 लाख की नशीली दवा पकड़ी, दवा कंपनी का निदेशक भी शामिल!

रांची। झारखंड के रांची से नशीली दवा कारोबार पर पुलिस व औषधि निदेशालय की टीम ने बड़ी कार्रवाई की जिसमें करीब 70 लाख की नशीली दवा पकड़ी गई। छापेरमारी के दौरान तीन लोगों को भी हिरासत में लिया गया जबकि फिलहाल मुख्य आरोपी फरार बताया जा रहा है।

मिली जानकारी के अनुसार, जब्त दवाओं की वास्तविक कीमत करीब 50 लाख रुपए है, लेकिन मार्केट में इन्हें ब्लैक में 70 लाख रुपए में बेचा जाता। औषधि निदेशालय की टीम ने पहले चतरा में छापेमारी कर दो पेटी ओनारेक्स के साथ विंग्स बायोटेक के एक मेडिकल रिप्रजेंटेटिव (एमआर) दीपक कुमार सिंह को पकड़ा। दीपक ने बताया कि बुधवार की सुबह छह बजे उसे एक बड़े सप्लायर ने फिर माल देने के लिए बुलाया है। जिसके बाद औषधि निदेशालय की टीम दीपक को लेकर चतरा से रांची पहुंची। रांची में पहले नामकुम और अन्य जगहों में छापेमारी की गई तो पांच पेटी ओनारेक्स और मिली।

दीपक को बेचने के लिए 18 पेटी माल मिला था। टीम उस सप्लायर की खोज में निकली जिसने दीपक को दवाएं देने के लिए सुबह छह बजे बुलाया था। जब पुलिस ने अमरूद बागान में आरके डिस्ट्रीब्यूटर के यहां छापेमारी की तो वहां से भारी मात्रा में ओनारेक्स मिली। जबकि आरके डिस्ट्रीब्यूटर का मालिक संतोष कुमार फरार हो गया। आरोपियों ने बताया कि दवाएं हिमाचल के सोलन में स्थित दवा कंपनी से सप्लाई हो रही थी। इसे यहां पांच गुना ज्यादा दाम में बेचा जाता है। कंपनी का निदेशक भी इसमें शामिल है।

Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here