कोरोना वायरस की जानकारी देने वाले डॉक्टर की मौत

नई दिल्ली। चीन में कोरोना वायरस की जानकारी देने वाले डॉक्टर ली वेनलियांग की मौत होने का समाचार है। वे खुद भी इस वायरस से पीडि़त थे। कोरोना से मरने वालों का आंकड़ा बढक़र अब तक 638 पहुंच गया है। एक दिन में ही इस वायरस से संक्रमित 73 लोगों की मौत हुई। पुलिस ने डॉक्टर ली से जनवरी के शुरुआत हफ्ते में ही पूछताछ शुरू कर दी थी। दरअसल, उन्होंने 30 दिसंबर को मेडिकल स्कूल में अपने साथियों को इस संक्रमण के बड़े स्तर पर फैलने के बारे में बताया था। उन्होंने इसके खतरे को सार्स (2002) वायरस जैसा बताया था। हालांकि, पुलिस ने उन्हें अपने ही दावे को झूठा बताने के लिए मजबूर किया। उन पर इन दावों को अवैध अफवाह मानने के स्टेटमेंट पर भी साइन कराया गया था। डॉक्टर ने एक इंटरव्यू के दौरान कहा था कि अगर अफसर इस महामारी के बारे में पहले ही लोगों को बता देते, तो हालात बेहतर होते। यहां ज्यादा खुलापन और पारदर्शिता अपनाई जानी चाहिए। इसके अलावा इस वायरस से संक्रमितों का आंकड़ा भी 31 हजार पहुंच गया है। दूसरी तरफ जापान के योकोहामा बंदरगाह पर पिछले पांच दिनों से खड़े डायमंड प्रिंसेज क्रूज शिप में कोरोनावायरस के 41 नए मामले सामने आए हैं। इस जहाज में 3700 यात्री सवार हैं। डॉक्टरों ने पहले ही शिप पर 20 संक्रमितों की पहचान की थी। यानी अब शिप पर कुल 61 कोरोनावायरस संक्रमित लोग मौजूद हैं। बताया गया है कि इस शिप पर हॉन्गकॉन्ग के एक व्यक्ति को कोरोना वायरस से संक्रमित पाया गया था। इसके बाद ही शिप को समुद्र में छोड़ दिया गया था। कोरोना वायरस के चलते पाकिस्तान के लोग चीन में फंसे हुए हैं, जिन्हें निकालने के लिए उनकी सरकार ने कोई पहल नहीं की है। इस बीच, भारतीय विदेश मंत्रालय ने कहा कि यदि पाक सरकार अपने नागरिकों को निकालने के लिए अनुरोध करती है, तो हम उस पर विचार करेंगे।