ऑनलाइन दवा की आड़ में करोड़ों के ड्रग रैकिट का पर्दाफाश

लखनऊ। नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो ने दवाओं की आड़ में चल रहे करोड़ों के ड्रग रैकिट का पर्दाफाश किया है। इस रैकिट को ऑनलाइन दवाइयां बेचने की आड़ में लंबे समय से चलाया जा रहा था। जांच में पता चला कि दीपू नामक युवक लखनऊ के आलमबाग स्थित एक घर से इस पूरे धंधे को ऑपरेट कर रहा था। उसे दिल्ली से गिरफ्तार कर लिया गया है। आरोपी के घर से तलाशी के दौरान करीब 12 हजार नशीली गोलियां बरामद हुई, जिन्हें दवाओं और फिटनेस सप्लीमेंट के पैकेट में पैक कर रखा गया था। आरोपी पुलिस को चकमा देने के लिए क्रिप्टो करंसी में ही पेमेंट लेता था। इस पूरे फर्जीवाड़े का पता तब चला जब ब्रिटेन जा रहे एक ड्रग कंसाइनमेंट को एनसीबी ने मुंबई में पकड़ा। छानबीन के दौरान 17 जनवरी को रोमानिया जा रहा एक और कंसाइनमेंट पकड़ा गया। एनसीबी के एक अधिकारी ने बताया कि कार्गो ने केवाईसी का पालन नहीं किया था और पेमेंट भी डिजिटली की गई थी। इसकी जांच करने पर भारत से तार जुड़े मिले। इस बीच दिल्ली में ब्रिटेन जा रहा 10,200 टेबलेट का एक और पार्सल पकड़ा गया। जब पार्सल का स्रोत पता किया, तो लखनऊ का पता सामने आया। अधिकारी ने बताया कि एक सर्विलांस टीम गठित कर दीपू को पकडऩे का प्लान बनाया गया। गिरफ्तारी के बाद पूछताछ में उसने बताया कि वह इस धंधे में 2018 से है और अब तक करीब 600 ऐसे कंसाइनमेंट दुनियाभर में भेज चुका है।

Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here