लाइसेंस के नाम पर वसूली करता फर्जी ड्रग इंस्पेक्टर पकड़ा

जौनपुर (यूपी)। यूपी के जौनपुर में सरायमोहिउद्दीनपुर बाजार में मेडिकल स्टोरों का लाइसेंस चेक करने के नाम पर वसूली की कोशिश कर रहे फर्जी ड्रग इंस्पेक्टर को दुकानदारों ने पकड़ लिया। पूछताछ में उसने अपना नाम मनोज ङ्क्षसह निवासी नवाबाद, करौंदीकला, सुल्तानपुर बताया, दुकानदारों ने उसे पुलिस को सौंप दिया। पुलिस ने  मुकदमा दर्ज कर उसे जेल भेज दिया। गत दिवस दोपहर के समय एक व्यक्ति विकास मेडिकल स्टोर पर पहुंचा। खुद को ड्रग इंस्पेक्टर बताते हुए लाइसेंस की मांग करने लगा। दुकानदार ने थोड़ी मोहलत मांगी तो वह अन्य दुकानों को चेक करके वापस आने की बात कहकर दूसरे मेडिकल स्टोर पर चला गया। इधर जब बाजार में जांच की बात फैली तो दुकानें धड़ाधड़ बंद होने लगीं। उधर कथित इंस्पेक्टर अन्य मेडिकल स्टोरों से होते हुए एएनएम सेंटर पहुंच, उसके बाद फिर वहां से जब दौबारा दीपक मेडिकल पर पहुंचा। वहां पर भी जांच के नाम पर आरोपी लाइसेंस की मांग करने लगा और फिर रिश्वत की मांग की। इस पर दुकानदार दीपक श्रीवास्तव को उसके स्वभाव से कुछ शंका हुई तो उसने अधिकारियों से पूछताछ की। कथित ड्रग इंसपेक्टर से पहचान पत्र की मांग की तो वह पहचान पत्र दिखाने के लिए आना-कानी करने लगा। संदेह होने पर दुकानदारों ने कथित ड्रग इंसपेक्टर को पकड़ कर पुलिस चौकी पर सौंप दिया, जिसके बाद पुलिस कार्रवाई में जुट गई।