शरीर का पावर हाऊस है लिवर, ऐसे बचें बीमारी से

शरीर के पाचन संबंधी सभी कार्यों को सुचारू रूप से चलाने का काम लिवर का होता है। यदि लिवर में कोई समस्या आ जाए तो कई तरह की परेशानियां होने लगती हैं। लिवर की कई तरह की बीमारियां होती हैं, जिनमें से एक बीमारी “लिवर बढ़ने’ की होती है, जिसे ‘फैटी लिवर’ भी कहा जाता है। एक शोध के अनुसार जिन लोगों को लिवर बढ़ने की समस्या होती है, उन्हें दूसरी अन्य बीमारियां जल्द जकड़ लेती है।

फैटी लिवर होने का कारण
www.myupchar.com से जुड़ीं एम्स की डॉ. वीके राजलक्ष्मी के अनुसार, फैटी लिवर उन लोगों में अधिक होता है, जो अधिक मात्रा में एल्कोहल का सेवन करते हैं। इसके अलावा गलत खानपान जैसे अधिक वसायुक्त और मसालेदार आहार लेने से, गंदा पानी पीने से, अधिक क्लोरिन वाला पानी पीने से और एंटीबायोटिक दवाईयों के अधिक सेवन से फैटी लिवर की समस्या होती है।

फैटी लिवर के लक्षण
कई लोग पेट बढ़ने को वजन बढ़ने का कारण समझने लगते हैं, लेकिन ऐसा नही है यदि पेट बढ़ने की समस्या अचानक  हो तो यह पेट में सूजन का कारण भी हो सकता है। यदि छाती में भारीपन होने के साथ पेट में गैस बनना, भूख नही लगना, मुंह का स्वाद खराब होना, शरीर में थकान लगना और लिवर वाली जगह को दबाने पर दर्द होने जैसे कोई भी लक्षण महसूस हों तो यह ‘फैटी लिवर’ की समस्या होने के संकेत हो सकते हैं। इसलिए तुरंत डॉक्टर से चेकअप करा लेना चाहिए।

कैसे रखें लिवर का ध्यान
www.myupchar.com से जुड़ीं एम्स की डॉ. वीके राजलक्ष्मी के अनुसार,  सबसे पहले खानपान का ख्याल रखना बेहद जरूरी है, इसके लिए विटामिन-सी का सेवन लिवर के लिए फायदेमंद होता है। जैसे नींबू पानी पीने से भी लिवर से जुड़ी समस्याएं ठीक होती हैं।
रोज सुबह उठकर 3-4 गिलास पानी का सेवन करने से भी लिवर ठीक रहता है।
भोजन करने के बाद एक घंटे तक पानी न पिएं।
लिवर की बीमारी से पीड़ित व्यक्ति को चाय और काफी पीने से बचना चाहिए।
एल्कोहल के सेवन से सीधा असर लिवर पर पड़ता है, इसलिए नशीली दवाओं और नशीले पदार्थों के सेवन से बचना चाहिए।
लिवर की समस्या से छुटकारा पाने के लिए नियमित योग करना भी एक बेहतर इलाज है।
लिवर की समस्या से बचने के लिए रोज कच्चे आंवले का सेवन करना चाहिए।
वसायुक्त आहार से परहेज करना चाहिए, साथ ही जंक फूड खाने से भी बचना चाहिए।

फैटी लिवर से उत्पन्न बीमारियां
फैटी लिवर की बीमारी का समय पर इलाज नहीं किया गया तो इससे कई गंभीर बीमारियां होने की आशंका होती है। जैसे- कोलेस्ट्रॉल का लेवल बढ़ना, मोटापा बढ़ना या अचानक वजन कम होना, डायबिटीज, उच्च रक्तचाप और आंतों से संबंधित परेशानी होना जैसी कई बीमारियां दस्तक दे सकती हैं। लीवर से जुड़ी कोई भी परेशानियां होने पर तुरंत चेकअप करा लेना चाहिए, क्योंकि लिवर की खराबी शरीर के सभी महत्वपूर्ण अंगों को खराब कर सकती है।

रोज जरूर खाएं ये चीजें
फैटी लिवर रोग के निवारण के लिए अपने आहार में बदलाव करने की जरूरत है। कुछ खाद्य पदार्थ लीवर रोगों से लड़ने में मदद कर सकते हैं। फैटी लिवर के इलाज में कुछ चीजें हैं, जिन्हें आप अपने आहार में शामिल कर सकते हैं। उनमें हरी सब्जियां, वसायुक्त मछलियां, जई, अखरोट, जैतून का तेल, लहसुन, मेवे, फलियां, जामुन और अंगूर शामिल हैं।

Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here