कोरोनिल दवा के परीक्षण पर निम्स अस्पताल को नोटिस

जयपुर। राजस्थान के स्वास्थ्य विभाग ने जयपुर के निम्स अस्पताल से एक नोटिस जाकर कर पतंजलि आयुर्वेद की कोरोनिल दवा का कोरोना के मरीजों पर परीक्षण करने को लेकर स्पष्टीकरण मांगा है। जयपुर के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. नरोत्तम शर्मा ने कहा कि हमने नोटिस देकर अस्पताल से तीन दिनों के अंदर जवाब मांगा है। अस्पताल ने दवा परीक्षण के बारे में ना तो राज्य सरकार को सूचित किया था और ना अनुमति ही मांगी थी।
फिलहाल नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंस (निम्स) के जवाब का इंतजार है। बता दें कि योग गुरु बाबा रामदेव ने कोरोनिल दवा लांच की थी और दावा किया गया था कि यह कोविड-19 को मात देने में सक्षम है।
इसके बाद दवा की प्रमाणिकता को लेकर बहस छिड़ गई, जिसके बाद आयुष मंत्रालय ने इसके परीक्षण पर पूरी जानकारी मांगी और इसे कोरोना को ठीक करने वाली दवा कहकर प्रचारित करने पर रोक लगा दी। राजस्थान सरकार ने स्पष्ट कर दिया है कि आयुष मंत्रालय की अनुमति के बिना इस दवा का राज्य में इस्तेमाल नहीं किया जा सकता।