अमानक वैक्सीन के मामले में तीन कर्मचारियों को नोटिस

दतिया। तीन दिन पहले जोहरिया उप स्वास्थ्य केंद्र पर बच्चों को अमानक वैक्सीन पहुंचाने के मामले में स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों ने तीन जिम्मेदार कर्मचारियों के खिलाफ कार्यवाही करने का मन बना लिया है। तीनों को नोटिस जारी किया जा रहा है । उन पर कड़ी कार्रवाई होगी । फिलहाल जिला टीकाकरण अधिकारी ने मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी को जांच रिपोर्ट भेज दी है।

डॉ.डीके सोनी के मुताबिक उन्होंने टीकाकरण के दौरान जौहरिया सब सेंटर पर जाकर चेक किया तब पाया था कि जो वैक्सीन बच्चों को लगाने के लिए ले जाए गए थे उन्हें कोल्ड चेन से निकले हुए 28 दिन से ज्यादा हो गए थे। वे बच्चों को लगाने लायक नहीं थी। उनसे नुकसान हो सकता था। बावजूद इसके न तो वैक्सीन जारी करने वाले सुपरवाइजर राजेंद्र गुप्ता और देव सिंह ने ध्यान दिया और न ही उन्हें लगाने ले जा ले गई रचना जोगलेकर ने। तीनों पर अधिकारी नाराज हैं उनके खिलाफ कार्यवाही की जाएगी। इस बारे में मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. एसएन उदयपुरिया का कहना है कि एएनएम रचना ने व्हाट्सएप पर मैसेज डाल कर यह सिद्ध कर दिया है कि गलती उसकी भी है। तीनों पर कार्यवाही होगी।

गौरतलब है कि कुछ दिन बच्चों को पोलियो और हेपेटाइटिस के टीके जोहरिया सब सेंटर पर भेजने के मामले में लापरवाही बरतने वाली एएनएम रचना जोगलेकर और मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी कार्यालय के कोल्ड चेन यानी फोकल प्वाइंट से वैक्सीन जारी करने वाले दो प्रभारियों के खिलाफ कार्रवाई करने का अधिकारियों ने तय कर लिया है। जिला टीकाकरण अधिकारी डॉ डीके सोनी की रिपोर्ट पर उनके खिलाफ कार्रवाई की जा रही है। मतगणना कार्य में व्यस्तता के चलते नोटिस नहीं दिए सके लेकिन बुधवार को नोटिस थमा दिए जाएंगे और उनसे जवाब मांगे जाएंगे।