स्वास्थ्य विभाग की टीम का छापा,फर्जी अल्ट्रासाउंड करते डॉक्टर को दबोचा

गुड़गांव। जिले के तेड गांव में लंबे समय से फर्जी अल्ट्रासाउंड मशीन से लोगों का इलाज कर उनकी जान जोखिम में डालने वाले डॉक्टर को स्वास्थ्य विभाग व पुलिस की टीम ने छापा मारकर गिरफ्तार कर लिया है। इमरान क्लीनिक में चलाई जा रही फर्जी मशीन में अन्य सामान को स्वास्थ्य विभाग की टीम ने कब्जे में ले लिया है। बता दें कि डॉक्टरों की टीम के साथ एसएचओ पिनगवां सब इंस्पेक्टर चंद्रभान व उनकी टीम भी मौजूद थी ।

पिनगवां पुलिस ने इमरान को गिरफ्तार कर कोर्ट में पेश किया , जहां से उसे भोंडसी जेल भेज दिया गया है। इसी मामले में पुलिस ने डॉक्टर इमरान के बयानों के आधार पर साबिर पुत्र कमालुद्दीन निवासी ढाढोली , तारीफ पुत्र मोहम्मद सदीक निवासी पापड़ा , अनीश निवासी जमालगढ़, अजरुदीन, डॉ अनुराग सर्जन मथुरा, डॉक्टर फारुख बीएएमएस शिकरावा इत्यादि को नामजद किया गया है। पुलिस को कोख के कातिल व फर्जी तरीके से अल्ट्रासाउंड कर लोगों का इलाज करने वाले डॉक्टर इमरान के साथियों की सरगर्मी से तलाश है।

स्वास्थ्य विभाग की टीम को पड़ताल के बाद पता चला है कि इससे पहले भी उपरोक्त झोलाछाप कई बार इस तरह के मामलों में जेल जा चुका है , जो केस उसके ऊपर आज भी चल रहे हैं। डॉ आशीष सिंगला डिप्टी सिविल सर्जन एवं डॉ पंकज वत्स डिप्टी सिविल सर्जन की टीम को सूचना मिली कि तेड गांव में डॉक्टर इमरान फर्जी मशीन के सहारे लोगों का अल्ट्रासाउंड इत्यादि करते हैं और इलाज कर लोगों की जान को जोखिम में डाल रहे हैं। जिस पर फर्जी ग्राहक तैयार करके भेजा गया और अल्ट्रासाउंड करते समय स्वास्थ्य विभाग की टीम ने डॉक्टर को रंगे हाथों दबोच लिया।