दवा विभाग की टीम ने मारा छापा, 72 सौ ऑक्सीटोसिन इंजेक्शन की खेप जब्त की

फिरोजाबाद। खाद्य सुरक्षा एवं औषधि प्रशासन विभाग की टीम ने थाना मटसेना के समीप एक दुकान पर छापा मारा। कार्रवाई में 72 सौ ऑक्सीटोसिन इंजेक्शन की खेप जब्त की है। इसके अतिरिक्त दुकान से 21 टीन सरसों का तेल और रिफाइंड भी सील की गई है। दरअसल जिला अभिहित अधिकारी डॉ. सुधीर कुमार ने बताया कि दूध उतारने के लिए ऑक्सीटोसिन का प्रयोग कानून अपराध है।

यह पशु क्रूरता अधिनियम की श्रेणी में आता है। इसका प्रयोग करते पकड़े जाने पर दो वर्ष का कारावास हो सकता है। एसडीएम सदर बुशरा बानो के साथ जिला अभिहित अधिकारी डॉ. सुधीर कुमार की टीम ने यह कार्रवाई की। निरीक्षण के दौरान दुधारू पशुओं से दूध दोहन के लिए पशु पालकों द्वारा प्रयोग किया जाने वाले 72 सौ ऑक्सीटोसिन इंजेक्शन जब्त किए। इसका नमूना लेकर औषधि निरीक्षक सुनील कुमार ने जांच के लिए भेजा है। दुकान से 21 टीन सरसों के तेल भी संदिग्ध होने पर जब्त किया गया है। इसके साथ ही 40 लीटर रिफाइंड ऑयल भी पकड़ा गया।

टीम ने रंगीन कचरी का नमूना लिया। करीब 260 किलोग्राम रंगीन कचरी को सील कर दिया। नमकीन के 20 पैकेट को भी विभाग ने सील कर दिया है। कार्रवाई के दौरान मुख्य खाद्य सुरक्षाधिकारी बीएस कुशवाह, अरुण मिश्रा, विनय यादव सहित अन्य अधिकारी मौजूद रहे। खाद्य विभाग की टीम ने पचोखरा स्थित प्रमोद की डेयरी से पनीर और घी का नमूना संकलित किया। कार्रवाई देखकर अन्य दुकानें भी बंद हो गईं।