नारकोटिक्स विभाग ने दवा की आड़ में नशा तस्करी करने वाले मेडिकल संचालक की 23 लाख की प्रोपर्टी ली कब्जे में

मोगा। दवाओं की आड़ में नशा तस्करी करने के आरोपित मेडिकल शाप संचालक रामसेठी की 23 लाख सात हजार 166 रुपये की प्रापर्टी अटैच करने के आदेश पर दवा विक्रेता के मकान, दुकान, कार व स्कूटी सीज कर पुलिस के नारकोटिक्स विभाग ने कब्जे में ले ली। यही नहीं पुलिस ने रामसेठी की जो अचल संपत्ति अटैच की है वह कुल संपत्ति के बराबर न होने के कारण रामसेठी के बैंक खाते में पड़े 1.80 लाख रुपये के बैलेंस वाला बैंक खाता भी सीज कर दिया। रामसेठी को पुलिस ने नशा तस्करी के आरोप में गिरफ्तार किया था, जांच में पता चला था कि नशे से रामसेठी ने करीब 23 लाख से ज्यादा की संपत्ति अर्जित की है।

इसी संपत्ति के खिलाफ पुलिस को संपत्ति सीज करने के आदेश मिलने पर डीएसपी नारिकोटिक्स मंजीत सिंह की अगुवाई में पुलिस टीम ने पापर्टी अपने कब्जे में ली। गौरतलब है कि इन दिनों शहर में कई बड़े व्यापारियों को गैंगेस्टर की धमकियां आ रही हैं, जिसके चलते बड़ी संख्या में रामगंज क्षेत्र में पुलिस बल देख लोगों में हड़कंप मच गया। बाद में डीएसपी ने अपनी जिप्सी रामगंज तिराहे पर खड़ी कर वहां से फौजी मार्केट में चली गई, जहां राम सेठी की दुकान को सीज करने की कार्रवाई की। घर, व मकान पर पुलिस ने प्रापर्टी अटैच करने के नोटिस चस्पा कर दिए हैं।

बता दें कि डीएसपी नारिकोटिक्स मंजीत सिंह की अगुवाई में बड़ी संख्या में पुलिस बल पहले पटवारखाना रोड स्थित राज सेठी के मकान पर पहुंची, वहां राजसेठी के मकान को पुलिस ने सीज कर दिया, यहीं पर पुलिस ने रामसेठी की कार व स्कूटी भी कब्जे में लेकर सीज कर दी। बाद में पुलिस फौजी मार्केट स्थित दवा की दुकान पर पहुंची जहां पुलिस ने दुकान सीज कर दी।