कोरबेवैक्स हो सकती है भारत की सबसे सस्ती वैक्सीन, महज 500 रुपये में दो डोज़!

नई दिल्ली। महज 500 रुपये में कोरोना वैक्सीन की दो डोज़! जी हां सही सुना आपने। ये है भारत की सबसे सस्ती कोरोना वैक्सीन जल्द ही ये वैक्सीन लॉन्च होने वाली है। भारत की कंपनी बायोलॉजिकल-ई ने कोरबेवैक्स नाम की इस वैक्सीन को तैयार किया है। फिलहाल इस वैक्सीन के तीसरे फेज का ट्रायल चल रहा है। ट्रायल के फाइनल नतीजे आने के बाद इंमरजेंसी अप्रूवल के लिए अप्लाई किया जाएगा। हैदराबाद की इस कंपनी के साथ भारत सरकार ने 30 करोड़ वैक्सीन की डोज़ के लिए डील की है।

वैक्सीन की कीमत को लेकर फिलहाल कोई आखिरी फैसला नहीं लिया गया है, हालांकि अंग्रेजी अखबार टाइम्स ऑफ इंडिया के मुताबिक दो डोज़ की कीमत 400 रुपये से भी कम हो सकती है। अब तक इस वैक्सीन के ट्रायल के दो फेज पूरे हो गए हैं और दोनों में अच्छे नतीजे आए हैं। फिलहाल तीसरे फेज़ का ट्रायल चल रहा है। बता दें कि किसी भी वैक्सीन के लिए तीसरे फेज़ का ट्रायल बेहद अहम होता है। इस फेज़ में हज़ारों की संख्या में वॉलेंटियर को अलग-अलग शहरों और देशों में वैक्सीन लगाई जाती है।

अमेरिका के सहयोग किया जा रहा है तैयार
इस साल अप्रैल में हैदराबाद की इस कंपनी को सेंट्रल ड्रग्स एंड स्टैंडर्ड कंट्रोल ऑर्गनाइजेशन ने तीसरे चरण के ट्रायल के लिए अनुमति दी थी। इस वैक्सीन को अमेरिका के बायलर कॉलेज ऑफ मेडिसिन के सहयोग से विकसित किया जा रहा है। इसके अलावा, बायोलॉजिकल-ई लिमिटेड ने भारत में एक mRNA (मैसेंजर राइबोन्यूक्लिक एसिड) वैक्सीन PTX-COVID19-B के निर्माण के लिए कनाडा स्थित प्रोविडेंस थेरेप्यूटिक्स होल्डिंग्स इंक के साथ भी साझेदारी की है।

भारत में वैक्सीन की कीमतें
भारत में इस वक्त तीन वैक्सीन लगाई जा रही है, जिसकी अलग-अलग कीमतें हैं। ऑक्सफोर्ड एस्ट्राजेनेका की कोविशिल्ड की दो डोज़ राज्य सरकारों को 600 रुपये में दी जा रही है, जबकि प्राइवेट हॉस्पिटल को ये वैक्सीन 1200 रुपये में दी जा रही है। भारत बायोटेक की वैक्सीन कोवैक्सीन की दो डोज़ राज्य सरकार को 600 रुपये में दी जा रही है, जबकि प्राइवेट अस्पतालों में ये 2400 रुपये की मिल रही है। उधर रूस की स्पूतनिक वैक्सीन के हर डोज़ की कीमत 995 रुपये है।