ड्रग इंस्पेक्टर ने थोक दवा दुकान में मारा छापा, नकली दवाएं जब्त

राउरकेला। राउरकेला में विभिन्न कंपनी की बगैर मानक वाली तथा प्रतिबंधित दवा की बिक्री होने की सूचना के आधार पर ड्रग इंस्पेक्टर अंजन कुमार साहू की अगुवाई में लगातार छापेमारी के साथ साथ नकली दवा जब्त कर उन्हें जांच के लिए भेजा जा रहा है। मंगलवार को डिगोडोना गली स्थित ड्रग्स प्वाइंट में छापेमारी की गई। राउरकेला शहर में चार पांच प्रकार की नकली दवा की बिक्री धड़ल्ले से की जा रही है। मंगलवार को ड्रग्स प्वाइंट में छापेमारी में पता चला कि यहां से प्रतिबंधित दवा शहर के एक दर्जन से अधिक खुदरा विक्रेताओं के पास भेजी गई थी। उनके द्वारा दवा वापस करने के बाद उसे जब्त किया गया।

इससे पहले विभाग की ओर से मैक्स हेल्थ केयर प्राइवेट लिमिटेड की स्प्यूरियस दवा बाजार में बेचे जाने की सूचना के आधार पर तीन बड़े मेडिकल स्टोर जीटी लेन, ओराम पाड़ा व उदितनगर में छापेमारी की गई थी। यहां से स्नीज-500, मेडी टीपीआर, ट्रीट-200 समेत अन्य दवा की तीन सौ से अधिक स्ट्रिप जब्त की गई थीं। इनके नमूने जांच के लिए भेजे गए हैं। इन दवा लैब टेस्टेड व मानक निर्धारण नहीं होने के कारण इसका सेवन स्वास्थ्य के लिए हानिकारक बताया गया है। वहीं, ड्रग विभाग की कार्रवाई पर सुंदरगढ़ जिला केमिस्ट एंड ड्रगिस्ट एसोसिएशन के अध्यक्ष अनिल अग्रवाल ने एतराज जताया है। कहा कि दवा दुकानदार की इसमें कोई भूल नहीं है। वे वही दवा लाते हैं जो चिकित्सक लिखते हैं एवं ग्राहक मांगते हैं। विभाग को चिकित्सकों व दवा दुकानदारों के बीच तालमेल बनाने का प्रयास करना चाहिए ताकि वे वैसी दवा मरीज के लिए न लिखें जो प्रतिबंधित या बिना मानक वाली है।