सरकारी हॉस्पिटल की लापरवाही, ICU में एडमिट मरीज की आंख कुतर गया चूहा

मुंबई। संक्रमण काल में बृहन्मुंबई महानगरपालिका के राजावाड़ी हॉस्पिटल से बेहद डराने वाली तस्वीरें सामने आईं हैं। यहां आईसीयू में वेंटिलेटर पर पड़े मरीज की आंख चूहे ने कुतर डाली। इस घटना की जानकारी सामने आने के बाद मुंबई की मेयर किशोरी पेडणेकर ने पूरे मामले की जांच के आदेश के साथ कड़ी कार्रवाई का आश्वासन दिया है। हालांकि, उन्होंने यह भी कहा कि बारिश की वजह से चूहे दरवाजे के गैप से अंदर आ जाते हैं।

जानकारी के मुताबिक, यह घटना मंगलवार तड़के तीन बजे के करीब हुई है। जानकारी मिलने के बाद मरीज के परिजनों ने हॉस्पिटल में हंगामा भी किया है। कुर्ला के कमानी इलाके में रहने वाले 24 वर्षीय श्रीनिवास यल्लपा को सांसों की तकलीफ के बाद रविवार को राजावाड़ी अस्पताल में भर्ती करवाया गया था। डॉक्टर्स के मुताबिक, उनके सिर पर बुखार भी चढ़ गया था और किडनी में भी दर्द था। इसे देखते हुए श्रीनिवास को ICU में भर्ती किया गया। मंगलवार सुबह जब श्रीनिवास के रिश्तेदारों ने उनकी एक आंख से खून बहता हुआ देखा तो तुरंत उन्होंने इस बारे में अस्पताल प्रशासन को बताया।

जब आंख की जांच की गई तो चूहे द्वारा आंख कुतरे जाने की जानकारी सामने आई। डॉक्टरों ने जांच की तो पाया कि आंख बच गई है। चूहे ने आंख की पलक के नीचे कुतरा था। आंख के अंदर कोई चोट नहीं आई है। इस घटना पर BMC की मेयर किशोरी पेडणेकर ने कहा कि अस्पताल का आईसीयू विभाग निचली मंजिल पर होने के बावजूद अस्पताल चारों तरफ से बंद है। बरसात की वजह से शायद दरवाजे के बीच के गैप से शायद चूहा अंदर आ गया हो, लेकिन ऐसी घटनाएं बार-बार ना हो, इसका उपाय जरूर करेंगे।

बीएमसी के अतिरिक्त आयुक्त सुरेश काकाणी ने भी जांच के आदेश दिए हैं। इस वजह से यहां चूहों की बड़ी संख्या देखने को मिलती है। चार साल पहले कांदिवली इलाके के शताब्दी अस्पताल में इसी तरह की घटना सामने आई थी। यहां भी कोमा में चल रहे एक मरीज की आंख चूहे कुतर ले गए थे।