अवैध रूप से चल रही आयुर्वेदिक फैक्ट्री पर एसडीएम ने मारा छापा, सील

हाथरस। डीएम रमेश रंजन के निर्देश पर गुरुवार को एसडीएम अंजली गंगवार ने एसीएमओ डा.डीके अग्रवाल के साथ लहरा रोड स्थित आयुर्वेदिक दवा की फैक्ट्री में छापा मारा। अवैध रूप से संचालित मिली फैक्ट्री को एसडीएम ने सील करा दिया। एसडीएम सदर अंजली गंगवार गुरुवार को लहरा रोड पर मोहता आयुर्वेदिक भवन नाम से संचालित फैक्ट्री पर पहुंचीं। मौके पर करीब 28 व्यक्ति आयुर्वेदिक दवाओं का निर्माण करते मिले थे, मगर छापा पड़ते ही भाग गए। एसडीएम सदर ने फैक्ट्री के बारे में पड़ताल की तो पाया कि वहां दवाओं की जांच के लिए न प्रयोगशाला है, न टेक्नीशियन।

फैक्ट्री भी बिना लाइसेंस के चलती मिली। मौके पर उक्त भवन में तैयार दवाएं एवं दवाओं के निर्माण में प्रयोग होने वाला कच्चा माल भंडारित पाया गया। फैक्ट्री का लाइसेंस वर्ष-2017 तक ही वैध था। इसके बाद से बिना वैध लाइसेंस के अवैध रूप से दवाओं के निर्माण की फैक्ट्री चल रही थी। आयुर्वेदिक दवाओं की इस फैक्ट्री को सील कर दिया गया। एसडीएम का कहना है कि फैक्ट्री अवैध रूप से संचालित की जा रही थी। न लाइसेंस रीन्यू कराया गया था और न ही वहां टेक्नीशियन मौजूद था। फैक्ट्री को सील करने साथ आगे की कार्रवाई की जा रही है।