मरीजों को यह मिलेंगी सस्ती दवाएं, 540 प्रकार के दवाएं होंगी उपलब्ध

धर्मशाला(हिमाचल प्रदेश )। जोनल अस्पताल धर्मशाला में एक साल बाद जन औषधि केंद्र शुरू हुआ है। अब जिला मुख्यालय धर्मशाला में मरीजों को सस्ती दवाएं उपलब्ध होंगी। हालांकि अभी तक बहुत ही कम दवाएं मिल रही हैं, लेकिन अन्य दवाओं का आर्डर अस्पताल प्रशासन ने दे दिया है। शीघ्र सप्लाई आने के बाद यहां सभी 540 प्रकार के दवाएं किफायती दाम पर मिलनी शुरू हो जाएंगी।

कोरोना काल शुरू होने के साथ ही जोनल अस्पताल धर्मशाला में जन औषधि केंद्र बंद हो गया था। ऐसे में मरीजों को बाजार से प्रिट रेट पर दवाएं खरीदनी पड़ रही थीं। अस्पताल में स्थापित जन औषधि केंद्र का कार्यकाल एवं टेंडर आठ सितंबर 2020 को खत्म होना था, लेकिन उससे पहले ही केंद्र अस्पताल प्रशासन ने बंद कर दिए था। इसका कारण यह था अस्पताल के तत्कालीन एमएस का तबादला हो गया था। फिर इसे पुन: शुरू करने की प्रक्रिया शुरू ही नहीं की गई। अब केंद्र पुन: शुरू किया गया है तो अस्पताल प्रशासन रिकार्ड की जांच कर रहा है कि कितनी दवाएं एक्सपायर हुई हैं।

नवंबर 2020 तक आठ से 10 कंपनियों की दवाएं एक्सपायर होनी थीं। इनमें से कुछ तो टांडा अस्पताल भी भेज दी थीं, लेकिन कुछ दवाएं यहीं थीं। जन औषधि केंद्र में लोगों को बाजार भाव से करीब 60 से 70 फीसद कम रेट पर दवाएं मिलती हैं। यानी ब्लड प्रेशर की जिस दवाई का पत्ता बाजार में 25-26 रुपये में होगा, वहीं दवा जन औैषधि केंद्र में चार रुपये में मिलती है। उधर जोनल अस्पताल धर्मशाला के वरिष्ठ चिकित्सा अधीक्षक डा. राजेश गुलेरी ने बताया कि केंद्र पुन: खोल दिया है। दवाओं का आर्डर भी दे दिया है। शीघ्र योजना के तहत आने वाली सभी दवाएं उपलब्ध होंगी।