सीमा सुरक्षा बल ने लाखों की नशीली दवा की जब्त

दक्षिण बंगाल। सीमा सुरक्षा बल , दक्षिण बंगाल फ्रंटियर के जवानों ने भारत-बांग्लादेश सीमा पर 988 याबा टैबलेट्स जब्त की। जब्त की गई याबा गोलियों का अनुमानित मूल्य 4,94,000 रुपए हैं। इन याबा टैबलेट्स को भारत से बांग्लादेश सीमा चौकी फर्जीपाडा, 141 बटालियन, मुर्शिदाबाद जिले के सीमावर्ती इलाके से तस्करी किया जा रहा था।

बता दें कि दो दिन पहले दक्षिण बंगाल फ्रंटियर के ही अंतर्गत सीमा सुरक्षा बल के जवानों ने 2 तस्करों को 125 याबा टैबलेट्स के साथ अंतर्राष्ट्रीय सीमा के नजदीक धर दबोचा था। जब्त याबा टैबलेट्स की अनुमानित कीमत 62,500/ रुपए थी। इन सभी याबा टैबलेट्स को उत्तर 24 परगना जिले के सीमा चौकी घोजाडांगा क्षेत्र से तस्करी के माध्यम से बांग्लादेश ले जाया जा रहा था।

तस्करों ने पॉलीथिन बैग में छुपा रखी थी दवा

बीएसएफ की ओर से जारी बयान में बताया गया है कि 141 ​​बटालियन की सीमा चौकी पर फर्जीपाड़ा के जवानों ने लगभग 1140 बजे एक तलाशी अभियान चलाया। डोमिनेशन लाइन के पास 200 मीटर की दूरी पर उन्हें भूरे रंग का एक पॉलीथिन बैग मिला, जिसे तस्करों ने छुपा कर रखा हुआ था। इसे खोलने पर उन्हें पॉलीथीन की थैली के अंदर से 988 याबा टैबलेट्स मिली। जब्त सामान को आगे की कानूनी कार्यवाही के लिए पुलिस स्टेशन जालंगी को सौंप दिया गया।

जवानों की सतर्कता से पकड़ा गया तस्कर

141 बटालियन के कमांडिंग ऑफिसर एनएस रौतेला ने अपने जवानों की उपलब्धि पर खुशी व्यक्त की है, जिसके परिणामस्वरूप 988 याबा टैबलेट जब्त किए गए हैं। उन्होंने कहा कि यह केवल ड्यूटी पर उनके सैनिकों की सतर्कता के कारण ही संभव हो सकता है। उनके सैनिक सीमा पर शून्य तस्करी के संकल्प को पूरा करने के लिए पूरी तरह से दृढ़ संकल्पित और प्रतिबद्ध हैं। यह आईजी दक्षिण बंगाल फ्रंटियर बीएसएफ कोलकाता द्वारा शुरू किया गया एक अभियान है।