कोरोना की तीसरी का डर, दवाओं का बफर स्टाक करने के लिए जारी किए गए निर्देश

रोहतक। पंडित भगवत दयाल पोस्ट ग्रेजुएट इंस्टीट्यूट आफ मेडिकल साइंस (पीजीआई) में दवाओं का बफर स्टाक करने के लिए निर्देश जारी कर दिए गए हैं। कोविड संबंधी दवाओं की खरीद के लिए हरियाणा स्टेट मेडिकल कारपोरेशन लिमिटेड (एचएसएमसीएल) को पत्र लिख दिया गया है। रेमिडेसिविर दवा के साथ-साथ पाेस्ट कोविड के लिए एम्फोटेरिसिन-बी की व्यवस्था भी बनाने पर चर्चा हुई है। तीसरी लहर को लेकर पीजीआइ प्रबंधन सकि्रय हो गया है। वीसी आफिस के निर्देश पर एमएस कार्यालय में अब हर दूसरे दिन किसी न किसी विषय को लेकर मीटिंग हो रही है। पीजीआइ में फिलहाल 50 आइसीयू बेड नए आए हैं।

-50 वेंटिलेटर बेड का हुआ आर्डर

कोविड के दौरान हालत गंभीर होने पर मरीजों को राहत पहुंचाने के लिए 50 वेंटिलेटर बेड खरीदने के निर्देश जारी कर दिए गए हैं। वहीं 150 स्टैंड प्लस आक्सीमीटर भी जल्द पीजीआइ को मिलने हैं। इसके अलावा अल्ट्रासाउंड की एक मशीन पीजीआइ को मिल चुकी है और एक नई मशीन का और आर्डर हो चुका है। वहीं डायलिसिस मशीनें भी पीजीआइ के लिए खरीदी जा रही हैं।

-700 बेड तक लाइन से आक्सीजन

पीजीआइ प्रबंधन की ओर से आक्सीजन फ्लो में किसी प्रकार की दिक्कत न आए, इसके लिए तीसरी लहर से पहले 700 बेड तक लाइन से आक्सीजन पहुंचाने की पूरी तैयारी कर ली है। हर बेड तक लाइन बिछा दी गई। आक्सीजन सिलेंडर की भी वैकल्पिक व्यवस्था रहेगी लेकिन प्राथमिकता लाइन से आक्सीजन पहुंचाने की है।

पीजीआइ में तीसरी लहर के लिए एडवांस तैयारियां सितंबर के पहले सप्ताह को पीक टाइम मानकार की जा रही हैं। इस लिहाज से तैयारियों के लिए केवल डेढ माह बचा है। जिसक प्रकार से लोग एकदम से लापरवाह हो गए है, उससे आशंका व्यक्त की जा रही है कि तीसरी लहर की दस्तक जल्दी भी हो सकती है। ऐसे में तैयारियों को लेकर पीजीआइ प्रबंधन कोई चूक करना नहीं चाहता।

———तीसरी लहर को लेकर एडवांस तैयारियां की जा रही हैं। इसी माह के अंत तक सभी तैयारियां पूरी हो जाएंगी। आईसीयू के 50 बेड आ चुके हैं, वेंटिलेटर के 50 बेड का आर्डर जारी हाे चुका है। वहीं दवाओं का बफर स्टाक करवाया जा रहा है।

डा. ओपी कालरा, कुलपति, पंडित बीडी शर्मा स्वास्थ्य विज्ञान विवि, रोहतक