ड्रग विभाग की अनुमति के बाद बंद ब्लड बैंक फिर हुआ शुरू

वाराणसी। बिना दस्तावेज खून बेचने की शिकायत पर बंद हुआ आईएमए का ब्लड बैंक शनिवार दोपहर चालू हो गया। ड्रग विभाग ने जनहित को देखते हुए इसे चालू करने के लिए अनुमति दी है। हालांकि ड्रग विभाग की कार्रवाई जारी रहेगी। वहीं, ड्रग निरीक्षक की अपने कंट्रोलर को भेजी गई रिपोर्ट के आधार पर आईएमए को नोटिस जारी की जाएगी। ड्रग असिस्टेंट कमिश्नर-केजी गुप्ता ने आईएमए ने अपनी रिपोर्ट में ब्लड बैंक की कमियां दूर करने लिए कहा है। इसके आधार पर ब्लड बैंक शुरू करने की अनुमति दी गई है। अभी इसमें विभागीय कार्रवाई चलती रहेगी।

दरअसल आईएएम ब्लड बैंक में ड्रग विभाग ने बीते गुरुवार को छापेमारी की थी। आईएमए ब्लड बैंक पर यह आरोप लगा था कि वहां बिना दस्तावेज के खून बेचा जा रहा है। इसके बाद आईएमए ब्लड बंक में प्लाज्मा का काम देख रहे तीन कर्मचारी शुक्रवार को निलंबित कर दिए गए थे। लैब को जांच पूरी होने तक बंद कर दिया गया था। आईएमएन ने अपने स्तर पर की कार्रवाई की रिपोर्ट ड्रग विभाग भेजी थी।

ड्रग विभाग ने आईएमए की उस रिपोर्ट के आधार पर ब्लड बैंक के संचालन की अनुमति दे दी। इसके बाद दोपहर करीब 12 बजे से लोगों को ब्लड मिलना शुरू हो गया। ब्लड लेने सुबह पहुंचे लोगों को लौटना पड़ा। जोआईएमए सचिव आरएन सिंह ने बताया कि ड्रग विभाग की अनुमति मिलने के बाद ब्लड बैंक संचालन शुरू हो गया है। लोग यहां से ब्लड ले सकते हैं।