भारी मात्रा में नशीली दवा बरामद

A new study finds that drug prices can vary dramatically in the developing world, especially as a country moves up the economic ladder.

सहरसा। नशीली दवाओं का कारोबार लगातार बढ़ता ही जा रहा है। लगातार युवाओं को नशे का शिकार बनाया जा रहा है। इस कड़ी में भारी मात्रा में नशीली दवा बरामद की गई है। बता दें कि बिहरा थाना पुलिस ने मनहारा पुरीख के समीप एक पिकअप वैन से 42 कार्टन नशीली दवा एवं 10 कार्टन अन्य दवा बरामद की गई है। पुलिस ने इस मामले में चालक जहानाबाद निवासी धर्मेंद्र कुमार को हिरासत में लिया जिससे आवश्यक पुछताछ की जा रही है।

बताया जाता है कि सहरसा-सुपौल सीमा पर पुलिस एवं बैरियर लगा देख नशीली दवा लेकर जा रहे पिकअप वैन के चालक बैरियर तोड़कर गाड़ी लेकर भाग गया लेकिन कुछ दूर जाने के बाद अनियंत्रित होकर सामने से आ रहे एक मालवाहक ट्रक से टकरा गया। गाड़ी में नशीली दवा की जानकारी मिलते ही लोग गाड़ी में रखे नशीली दवा के कार्टन को लेकर भागने लगे। सुत्र बताते हैं कि जबतक पुलिस पहुंची तबतक लगभग नशीली दवा के 60 कार्टन लेकर लोग वहां से भाग गये। बिहरा थानाध्यक्ष ने बताया कि पिकअप वैन एवं उसपर रखे 42 कार्टन नशीली दवा एवं 10 कार्टन अन्य दवा को जब्त कर थाना लाया गया है।

थानाध्यक्ष ने बताया कि पिकअप वैन पर से लूटे गये नशीली दवा के कार्टन की बरामदगी के लिए छापेमारी की जा रही है। पिकअप वैन पर से दो अन्य लोगों के भागने की जानकारी मिली है जो पुलिस के अनुसार कारोबारी था। पुलिस द्वारा इस बात की पता लगाई जा रही थी कि उक्त नशीली दवा कहां जा रहा था और यह माल किसकी है। पुलिस के इस कारवाई से कारोबारी हड़कंप है। बताया जाता है कि इस घटना में मॉर्निंग वॉक कर रहे कई लोग बाल-बाल बच गये अन्यथा वहां एक बड़ा हादसा हो जाता।

बिहरा थानाध्यक्ष प्रमोद झा ने बताया कि पुलिस को गुप्त सूचना मिली थी कि पटना से सुपौल होकर सहरसा एक पिकअप वैन से नशीली दवा जा रहा है। सूचना के आधार पर रविवार की अहले सुबह सहरसा-सुपौल मुख्य पथ के सीमा पर जहां बैरियर लगाकर पुलिस को तैनात कर दिया गया था वहीं खोनहा चौक के पास भी पुलिस को तैनात कर दिया गया था।