सावधान: फिर सक्रिय हुए फर्जी ड्रग इंस्पेक्टर, स्टोर संचालक को धमकाकर बना रहे शिकार

राजस्थान। फर्जी ड्रग इंस्पेक्टर बनकर दवा दुनकानदारों को धमकाकर उनसे पैसे ऐठने के कई मामले सामने आ चुके है। बताना लाजमी है कि फर्जी ड्रग इंस्पेक्टर इस समय सक्रिय है और मौके का फायदा उठाने की पूरी कोशिश कर रहें है। बताया जा रहा है कि गिरोह से जुड़े बदमाश दवा दुकानदारों से लाखों रुपए की वसूली कर फरार हो चुके हैं। सूत्रों के अनुसार बताया जा रहा है कि,जिले में नकली ड्रग इंस्पेक्टर बनकर दवा दुकानदारों के ठगी करने वाला गिरोह सक्रिय हैं।

ठग पूरी तैयारी के साथ काम कर रहे है ताकि किसी को भी शक नहीं हो और रुपए भी ऐंठ लिए जाए। राजस्थान गिरोह से जुड़े बदमाश शनिवार को बोलेरो गाड़ी से हरनावां, बेसरोली और बडू के मेडिकल स्टोर्स पर पहुंचे हैं। बदमाशों ने बोलेरो पर राजस्थान सरकार लिखवा रखा है। गौरतलब है कि कुछ दिन पहले टीम की ओर से जांच की जा रही है लेकिन इसका गलत फायदा कुछ ठग उठाने में लगे हुए है। हरनावां के मेडिकल स्टोर संचालक सतवीर सिंह राठौड़ ने बताया कि ठग उनकी दुकान में भी पहुंचे और दुकान में घुसते ही बताया कि हम औषधि नियंत्रण विभाग की स्पेशल फ्लाइंग से हैं।

दुकान में रखी दवा के संबंध में जानकारी जुटाकर धमकाना शुरू कर दिया। उनके व्यवहार से कुछ संदेह हुआ तो मैंने अपना मोबाइल निकालकर नागौर ऑफिस में दर्ज इन्स्पेक्टर हंसराज मंडा को फोन लगाने का प्रयास किया तो उन्होंने मना कर दिया और अचानक से उठकर वापस आने का बोलकर चले गए। दवा व्यापारियों से अपील की है। खबरों से प्राप्त जानकारी के अनुसार बताया जा रहा है कि, जांच के लिए आने वाले औषधि नियंत्रण अधिकारी से आईडी कार्ड मांगे और आईडी कार्ड न दिखाए तो उसे बैठा ले। इसके बाद पुलिस को सूचना दें।