लैबोरेटरी पर स्वास्थ्य विभाग की टीम ने मारा छापा, एमपीटी किट सहित संचालक काबू

जींद में स्वास्थ्य विभाग की टीम ने छापेमार कार्यवाई करके एमपीटी किट बरामद की है। बता दें कि स्वास्थ्य विभाग को सूचना मिली थी कि शिव कालोनी की बजरंग क्लीनिक लैब में एमपीटी किट को बेचा जा रहा है। जिसके आधार पर स्वास्थ्य विभाग के नोडल अधिकारी डा. पालेराम के नेतृत्व में छापामार टीम का गठन किया गया।

जींद। जींद में स्वास्थ्य विभाग की टीम ने छापेमार कार्यवाई करके एमपीटी किट बरामद की है। बता दें कि स्वास्थ्य विभाग को सूचना मिली थी कि शिव कालोनी की बजरंग क्लीनिक लैब में एमपीटी किट को बेचा जा रहा है। जिसके आधार पर स्वास्थ्य विभाग के नोडल अधिकारी डा. पालेराम के नेतृत्व में छापामार टीम का गठन किया गया।

टीम ने एमपीटी किट के लिए फर्जी ग्राहक तैयार किया और उसे नोटों के नम्बर नोट कर दे दिए गए। जिसके आधार पर फर्जी ग्राहक ने लैब संचालक नवनीत से संपर्क साधा तो उसने 1500 रुपये की डिमांड की। राशि लेकर किट फर्जी ग्राहक को थमा दी गई। इशारा मिलते ही टीम ने लैब में दस्तक दी और एमपीटी किट तथा फर्जी ग्राहक से ली गई 1500 रुपये की राशि को कब्जे में ले लिया।

लैब संचालक के खिलाफ नोडल अधिकारी डा. पालेराम ने सिविल लाइन थाना में शिकायत देकर पुलिस कार्रवाई की सिफारिश की है।स्वास्थ्य विभाग के नोडल अधिकारी डा. पालेराम ने बताया कि लैब संचालक द्वारा एमपीटी किट बेचने की सूचना मिलने पर फर्जी ग्राहक बनाकर छापेमारी की गई तो लैब से एमपीटी किट तथा फर्जी ग्राहक से वसूली गई राशि को बरामद कर लिया गया है।

लैब संचालक के खिलाफ पुलिस को शिकायत दी गई है। स्वास्थ्य विभाग की टीम ने शिव कालोनी में लैबोरेटरी पर छापेमारी कर एमपीटी किट को बरामद किया है। एमपीटी किट को 1500 रुपये में बेचा जा रहा था। छापामार टीम ने 1500 रुपये की राशि को बरामद कर लैबोरेटरी संचालक के खिलाफ पुलिस कार्रवाई की सिफारिश की है। सिविल लाइन थाना पुलिस मामले की जांच कर रही है