फार्मा कंपनी Hetero ग्रुप के परिसरों पर आयकर विभाग ने मारा छापा, कंप्यूटर और दस्तावेज किए जब्त

हैदराबाद की प्रसिद्ध फार्मा कंपनी Hetero ग्रुप के परिसरों पर आयकर विभाग ने छापा मारा है। बता दें कि आयकर विभाग के अधिकारियों ने प्रसिद्ध दवा समूह हेटरो के कार्यालयों और कंपनी से जुड़े अन्य जगहों पर बुधवार को एक साथ छापे मारे। आधिकारिक सूत्रों ने यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि कंपनी के मुख्यालय, हैदराबाद में कुछ उत्पादन केंद्रों और कार्यालयों और आंध्र प्रदेश के विशाखापत्तनम में छापे मारे जा रहे हैं।

हैदराबाद। हैदराबाद की प्रसिद्ध फार्मा कंपनी Hetero ग्रुप के परिसरों पर आयकर विभाग ने छापा मारा है। बता दें कि आयकर विभाग के अधिकारियों ने प्रसिद्ध दवा समूह हेटरो के कार्यालयों और कंपनी से जुड़े अन्य जगहों पर बुधवार को एक साथ छापे मारे। आधिकारिक सूत्रों ने यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि कंपनी के मुख्यालय, हैदराबाद में कुछ उत्पादन केंद्रों और कार्यालयों और आंध्र प्रदेश के विशाखापत्तनम में छापे मारे जा रहे हैं।

बता दें कि हेटरो की भारत, चीन, रूस, मिस्र, मैक्सिको और ईरान में 25 में अधिक उत्पादन केंद्र हैं। 7,500 करोड़ रुपए की फार्मा कंपनी उन कंपनियों में से एक है, जिसने भारत में कोविड-19 टीके स्पुतनिक-V के निर्माण के लिए रूसी प्रत्यक्ष निवेश कोष (RDIF) के साथ करार किया है। सूत्रों ने समाचार एजेंसी पीटीआई को बताया, “विभाग ने कुछ दस्तावेज बरामद किए हैं और कुछ कंप्यूटर हार्ड डिस्क जब्त किए हैं जिनका विश्लेषण किया जाएगा कि क्या किसी तरह की कर चोरी की गई है।” कंपनी के अधिकारियों से टिप्पणी के लिए संपर्क नहीं हो सका है।

Hetero भारत और विदेशों में दवा का फॉर्मूला तैयार करने और नई पीढ़ी के उत्पादों का निर्माण करने वाली फार्मास्युटिकल कंपनियों को एक्टिव फार्मास्यूटिकल इंग्रेडिएंट -एपीआई (साइटोटॉक्सिक्स सहित) उपलब्ध कराने वाले प्रमुख वैश्विक आपूर्तिकर्ताओं में से एक है। समूह द्वारा कई समझौतों पर हस्ताक्षर करने और कोविड-19 के इलाज के लिए रेमेडिसविर और फेविपिरवीर जैसी विभिन्न दवाएं विकसित करने के कामों में संलग्न होने के कारण Hetero सुर्खियों में आया था। हेटरो ने पिछले महीने कहा था कि उसे अस्पताल में भर्ती वयस्कों में कोविड ​-19 के इलाज के लिए टोसीलिज़ुमैब के बायोसिमिलर (पारंपरिक दवा से मिलता-जुलता) संस्करण के लिए भारत के औषधि माहनियंत्रक (DCGI) से आपातकालीन उपयोग की अनुमति मिली है।