बिहार में 494 प्रतिबंधित दवाओं की बिक्री, हाई कोर्ट ने जताई नाराजगी

पटना : पटना हाईकोर्ट ने बिहार में प्रतिबंधित दवाओं की खुलेआम बिक्री पर कड़ी नाराजगी जताई है. नाराजगी जताते हुए कोर्ट ने स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव को हलफलामा दायर करने का आदेश दिया है.
कोर्ट ने प्रधान सचिव को अर्जी में उठाए गये सवालों का जवाब 23 नवंबर तक देने का आदेश दिया.
शशि रंजन सिंह की ओर से दायर लोकहित याचिका पर मुख्य न्यायाधीश न्यायमूर्ति संजय करोल तथा न्यायमूर्ति पीबी बैजंतरी की खंडपीठ ने सुनवाई की.
अदालत ने राज्य सरकार की ओर से दायर जवाबी हलफनामा पर सवाल उठाया. कोर्ट ने कहा कि जब इस केस में अधिकारी प्रतिवादी नहीं हैं तो, फिर वे कैसे जवाबी हलफनामा दायर कर दिए.
आवेदक के वकील ने कोर्ट में जानकारी दी कि केंद्र सरकार ने 494 दवाओं पर प्रतिबंध लगाया है, फिर भी राज्य में खुलेआम इन दवाओं का नाम बदल कर धड़ल्ले से बिक्री की जा रही है. इसके साथ ही कई दवाओं के कम्पोजिशन में मात्रा बढ़ा कर बिक्री की जा रही है.