एक अरब पाउंड में खुलेगा एस्टाजेनेका अनुसंधान केंद्र

एस्टाजेनेका अनुसंधान केंद्र
एस्टाजेनेका अनुसंधान केंद्र

नई दिल्ली : फार्मास्युटिकल कंपनी एस्ट्राजेनेका कैम्ब्रिज विश्वविद्यालय के पास एक अरब पाउंड (1.34 अरब डॉलर) का अनुसंधान केंद्र शुरू करेगी. एस्टाजेनेका अनुसंधान केंद्र की शुरुआत के मौके पर ब्रिटेन के राजकुमार चार्ल्स भी मौजूद रहेंगे.

एस्ट्राजेनेका ने कोविड-19 रोधी टीकों में से एक टीका विकसित करने के लिए ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी के साथ काम किया. इस टीके को ब्रिटेन, यूरोपीय संघ और अन्य देशों में नियामकों द्वारा अनुमोदित किया गया.

उन्नीस हजार वर्ग मीटर वाले परिसर में 2,200 से अधिक अनुसंधान वैज्ञानिक रहेंगे. यह कैम्ब्रिज को जीवन विज्ञान अनुसंधान का एक केंद्र बनाने की मांग करने वाले व्यवसायों के समूह में शामिल हो जाएगी, जैसा कैलिफोर्निया की सिलिकॉन वैली प्रौद्योगिकी उद्योग के लिए है.

मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) पास्कल सोरियट ने कहा, आज हमारी महत्वाकांक्षा न केवल एक इमारत का अनावरण करना है, बल्कि वैज्ञानिक नवाचार की शुरुआत करना भी है.

कैंब्रिज अहेड के अनुसार, कैम्ब्रिज लाइफ साइंसेज समूह में 631 कंपनियां शामिल हैं, जो लगभग 21,000 लोगों को रोजगार देती हैं. और 7 अरब पाउंड का वार्षिक राजस्व उत्पन्न करती हैं। यह शहर में व्यावसायिक विकास को बढ़ावा देता है.
एस्ट्राजेनेका की यह भी योजना है कि वह अमेरिकी खाद्य एवं औषधि प्रशासन से भी टीके को मंजूरी देने के लिए कहेगी.