जांच से पहले ही चोरी हो गई 1.5 करोड़ की नकली दवाएं

नकली दवाएं

रांची : झारखंड के सदर अस्पताल परिसर में स्थित ड्रग एंड फूड कंट्रोल कार्यालय में जांच के लिए करोड़ों रूपये की नकली दवा के सैंपल को चोरों ने ठिकाने लगा दिया. चोर यहीं नहीं रूके उन्होंने कंप्यूटर में रखे गए सैंपलों के ब्यौरा से भी छेड़छाड़ की औऱ कंप्यूटर के कई हार्ड डिस्क गायब कर दिए.

कार्यालय में आठ ड्रग इंस्पेक्टर मौजदू हैं. ड्रग इंस्पेक्टर प्रणव बताते हैं कि जब उन्होंने सुबह कार्यालय खोला तो वह दंग रह गए. अंदर सारा सैंपल बिखरा पड़ा था. अलमीरा से फाइल निकाल फेंका हुआ था. देखने से लग रहा था कि कोई कुछ ढूंढ़ रहा था, लेकिन सभी चीजें इस तरह से फेंकी गई है कि कई सैंपल खराब भी हो गए होंगे .

कोरोना काल और उसके बाद बिक रही नकली दवाओं की सूचना के आधार पर जिले के आठ दवा गोदामों को सील किया गया था, जिसमें करीब 1.5 करोड़ की दवा बंद है. इन्हीं दवाओं के सैंपल जांच के लिए रखे गए थे, जिसे लेकर लीगल कार्रवाई की जा रही थी और इसे जांच के लिए बाहर भेजा जाना था.

इसके साथ ही अगल-अलग दवा दुकानों से भी दवाओं के सैंपल इकट्ठा किए गए थे. जिसे जांच के लिए देश के कसौली, गोवाहाटी, कोलकाता, चेन्नई, गाजीयाबाद, इज्जतनगर व दिल्ली भेजा जाना था.

राज्य में नकली दवाओं की कालाबाजारी पर अंकुश लगाया जा रहा था. ऐसे में आशंका जताई कि जिस तरह से नकली दवाएं पकड़ी जा रही हैं उसके बाद ही किसी ऐसे ही व्यवसायी ने इस तरह का काम करवाया है. आरोपी को जल्द ही प्रशासन की मदद से पकड़ लिया जाएगा.

Advertisement