आने वाले समय में 9-11 प्रतिशत की दर से बढ़ेगा भारतीय फार्मा उद्योग

नई दिल्ली : भारतीय फार्मा उद्योग का आने वाले कुछ तिमाहियों में घरेलू एवं उभरते बाजारों के जोरदार समर्थन से 9-11 प्रतिशत की दर से बढ़ने का अनुमान है.

रेटिंग एजेंसी इक्रा ने मंगलवार को फार्मा क्षेत्र पर जारी अपनी ‘नमूना’ रिपोर्ट में कहा कि वित्त वर्ष 2021-22 की दूसरी तिमाही में भारतीय फार्मा कंपनियों की राजस्व वृद्धि 6.4 प्रतिशत रही जो पहली तिमाही के 16 प्रतिशत से कम है.

इक्रा रेटिंग्स ने कहा कि अमेरिकी बाजार में कीमत संबंधी दबाव होने से दूसरी तिमाही में राजस्व वृद्धि सीमित रही.
हालांकि, भारतीय एवं उभरती अर्थव्यवस्थाओं में इसकी वृद्धि दर मजबूत बनी रही.

इक्रा की सहायक उपाध्यक्ष एवं फार्मा प्रमुख मैत्री मचेरला ने कहा, हमारे ‘सैंपल’ समूह की राजस्व वृद्धि वर्ष 2021-22 के अलावा 2022-23 में भी 9-11 फीसदी रहने का अनुमान है.

कोविड-19 महामारी का दुष्प्रभाव कम होने के बाद जारी पुनरुद्धार से इसमें मदद मिलेगी. उन्होंने कहा कि घरेलू बाजार में इस वित्त वर्ष में राजस्व में 13-15 प्रतिशत वृद्धि का अनुमान है जबकि उभरते बाजारों में यह 14-16 फीसदी और यूरोपीय बाजार में 9-11 फीसदी रह सकता है.

Advertisement