जितनी दवा खरीदी नहीं उससे ज्यादा कर दी बिक्री

नशीली दवाएं
concept image

सीकर. राजस्थान के सीकर में थोक दवा विक्रेताओं के बिलों की जांच की प्रक्रिया औषधि विभाग द्वारा की जा रही है।
शहर में आरजीएचएस योजना के तहत कार्ड धारकों के नाम से उठे बिलों के भुगतान की प्रक्रिया की जानकारी लेने के लिए औषधि नियंत्रक विभाग की टीम सीकर पहुंची।

टीम ने सीकर में दवा के एक दर्जन थोक विक्रेताओं के यहां जांच की। विभाग ने जब यहां बिलों की जांच की तो पता चला कि सीकर शहर से दवा के थोक विक्रेताओं की पांच फर्मों ने ही कल्याण अस्पताल के पीछे स्थित अधिकृत कृष्णा मेडिकल स्टोर को दवाएं बेची।

सहायक औषधि नियंत्रक मनोज टोंगरा ने कहा कि सीकर में एक दर्जन से ज्यादा थोक फर्मों की जांच की। जिसमें पता चला कि केवल पांच फर्मो ने करीब एक लाख की दवाएं ही बेची है।

फर्म का लाइसेंस करीब दो माह पूर्व ऑनलाइन प्रक्रिया के बाद ही दिया गया है। आरजीएचएस के अधिकारियों से कल संबंधित बिल और पेंशनर्स सम्बंधी डिटेल ली जाएगी।

अन्य फर्मों से इस मेडिकल स्टोर को दवाएं बेचने की पुष्टि नहीं हुई है। ऐसे में अब टीम की ओर से आरजीएचएस योजना के अधिकारियों से इस मेडिकल स्टोर के जरिए हुए भुगतान की जानकारी ली जाएगी।

 

Advertisement