दंतरोगियों को राहत, कॉलेज में खुला औषधालय

रोहतक: पोस्ट ग्रेजुएट इंस्ट्यिूट ऑफ डेंटल साईंसिज में इलाज के लिए आने वाले मरीजों को दवाओं के पीजीआईएमएस औषधालय के चक्कर नहीं काटने पड़ेंगे। प्राचार्य डॉ. संजय तिवारी के प्रयासों से इस परेशानी से निजात मिली है। डेंटल कॉलेज का अपना औषधालय कॉलेज परिसर में खुल गया है। जिसका विधिवत शुभारंभ कुलपति डॉ. ओपी कालरा ने किया।


चिकित्सकों को संबोधित करते हुए डॉ. कालरा ने कहा कि उनका ध्येय मरीजों को बेहतर इलाज देने के साथ-साथ उनके सहायकों को होने वाली परेशानियों को भी दूर करना है, ताकि रोगी को सही समय पर रोग से मुक्ति मिले। अकसर जांच एवं दवा केंद्रों की दूरी संबंधी परेशानी की शिकायतें उन्हें मिलती हैं, जिसे दूर करने के लिए प्रबंधन प्रयासरत है। डेंटल कॉलेज में औषधालय इस प्रयास की कड़ी है।
डेंटल कॉलेज के प्राचार्य डॉ. संजय तिवारी ने कहा कि दंत रोगियों को निशुल्क इलाज उपलब्ध करवाना उनकी पहली प्राथमिकता है। उनका प्रयास रहेगा कि कोई भी रोगी दवा के लिए दुकानों के चक्कर न काटे। इस बाबत उन्होंने कॉलेज में सेवा दे रहे चिकित्सकों को भी सख्त हिदायत दी है। उन्होंने बताया कि औषधालय में 5 तरह की एंटीबॉयोटिक, फोलिक एसिड,दर्द निवारक एवं एसिडिटी को दूर करने जैसी दंत रोगों मे जरुरी दवाईयां उपलब्ध हैं। शुभारंभ मौके पर कार्यकारी कुलसचिव डॉ.एम.सी.गुप्ता, निदेशक डॉ. राकेश गुप्ता भी मुख्यरूप से उपस्थित रहे।