कफ सिरप मामला, पुलिस की गिरफ्त में आया दो साल से फरार चल रहा नमनदीप

कफ सिरप मामला
आरोपी गिरफ्तार

पश्चिम बंगाल : दो वर्ष पहले लाखों की प्रतिबंधित कफ सिरप के मामले में वांछित चल रहे आरोपी नमनदीप को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। एनसीबी पश्चिमी बंगाल एवं लखनऊ की टीम ने ड्रग्स के मामले में नमनदीप को जयपुर हाउस से गिरफ्तार कर लिया। नमनदीप की पेशी के दौरान टीम द्वारा ट्रांजिट रिमांड स्वीकार कर लिया गया।

पश्चिमी बंगाल में एनसीबी ने नमनदीप की गाड़ी में दो वर्ष पहले लाखों रुपये के प्रतिबंधित कफ सिरप पकड़ा था।
ड्रग विभाग ने थाना एत्माददुद्दौला क्षेत्र में ट्रांस यमुना कॉलोनी में छापामार कार्रवाई की। यहां बिना लाइसेंस के फिनायल और हेयर ऑयल बनता हुआ पकड़ा गया।

आगरा में फुव्वारा दवा बाजार देश की बड़ी मंडियों में शामिल है। कई बड़े कारोबारियों पर अन्य राज्यों टीमों ने छापा मारकर कार्रवाई की है। गर्भपात किट की कालाबाजारी हो रही है।

आगरा में अब मोनोपॉली दवाओं का कारोबार हर रोज बढ़ रहा है। पंजाब पुलिस ने विक्की अरोडा एवं कपिल अरोड़ा को जेल भेजा था। एनसीबी ने कमलानगर में पंकज गुप्ता के ठिकानों पर करोड़ों रुपये की प्रतिबंधित दवाएं व नशीली दवाएं जब्त की थीं।

आवास विकास कॉलोनी में राजौरा बंधुओं का री-पेकिंग का खेल पकड़ा गया था। ट्रांस यमुना कॉलोनी एवं सिकंदरा में गोदामों में कफ सीरप पकड़े गए थे।

नकली और नशे की दवाओं का अवैध कारोबार आगरा से दिल्ली, पश्चिमी बंगाल, हरियाणा, राजस्थान और महाराष्ट्र तक फैला हुआ है। यह बहुत आश्चर्य की बात आगरा में इतने बड़े पैमाने पर नकली व नशे की दवाओं का अवैध कारोबार हो रहा है और प्रशासन इससे अंजान बना हुआ है।

Advertisement